हाई कोर्ट ने दी बड़ी राहत, राज्य सरकार को दिए ये आदेश, 2 दिन में होगा ग्रेच्युटी का भुगतान

हाई कोर्ट ने सरकार को मृतक अध्यापकों के आश्रितों को 2 दिन में ग्रेच्युटी भुगतान करने का आदेश दिया है।

bhopal bribe case

प्रयागराज, डेस्क रिपोर्ट। उत्तर प्रदेश की इलाहाबाद हाई कोर्ट ने ग्रेच्युटी मामले में एक और बड़ा फैसला सुनाया है। इलाहाबाद हाईकोर्ट ने यूपी सरकार को मृतक अध्यापकों के आश्रितों को 2 दिन में ग्रेच्युटी भुगतान करने का आदेश दिया है। इतना ही नहीं कोर्ट ने यह भी कहा है कि अगर 48 घंटे में भुगतान नहीं होता तो 18 फीसदी की ब्याज की दर से आश्रितों को भुगतान करना होगा और यह ब्याज BCA और वित्त एवं लेखाधिकारी के वेतन से वसूल किया जाएगा।

यह भी पढ़े.. कर्मचारियों को CM का बड़ा तोहफा, इस भत्ते में की बढ़ोतरी, जुलाई से मिलेगा लाभ

दरअसल, यह अहम आदेश जस्टिस रोहित रंजन अग्रवाल ने मनोरमा मिश्रा की याचिका पर सुनवाई करते हुए दिया है। याची के अधिवक्ता की ओर से तर्क दिया गया था कि हाईकोर्ट और सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बावजूद आश्रितों को ग्रेच्युटी का भुगतान नहीं किया जा रहा है।उन्होंने बताया कि सुप्रीम कोर्ट ने उषा रानी केस के आधार पर भुगतान करने का आदेश दिया था और 29 अप्रैल 2022 को आदेश पारित किया था।

यह भी पढ़े..MP CORONA: कोरोना ने बढ़ाई टेंशन, फिर 100 से ज्यादा नए पॉजिटिव, इन जिलों में बढ़े केस, 780 पार एक्टिव केस

इस पर हाई कोर्ट ने शिक्षा विभाग के अधिकारियों को अंतिम मौका देते हुए 48 घंटे में आदेश का अनुपालन कराने का आदेश दिया है।साथ ही कहा है कि शिक्षा विभाग के सचिव के जरिए उसके आदेश की कॉपी प्रदेश के सभी बीएसए सहित शिक्षा विभाग के जिम्मेदार अफसरों को भेज दी जाए, जिससे कि कोर्ट के आदेश का पालन 48 घंटें में कराया जा सके। अगर आदेश का अनुपालन नहीं होता है तो उसे कोर्ट की अवमानना मानी जाएगी।