देश के अगले चीफ जस्टिस होंगे जस्टिस एनवी रमना, जानें वकील से CJI तक का उनका सफर

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद (president ramnath kovind) ने जस्टिस एनवी रमना को देश के अगले मुख्य न्यायाधीश (chief justice of india) के रूप में नियुक्त किया है।

cji

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। देश के 48वें मुख्य न्यायाधीश (cji) के रूप में जस्टिस एनवी रमना (justice nv ramana) पद संभालेंगे। वे 24 अप्रैल 2021 से भारत (india) के अगले चीफ जस्टिस का पदभार ग्रहण करेंगे। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद (president ramnath kovind) ने जस्टिस एनवी रमना को देश के अगले मुख्य न्यायाधीश (chief justice of india) के रूप में नियुक्त किया है। नियम (rules) के अनुसार वर्तमान में मुख्य न्यायाधीश की सेवानिवृत्ति (retirement) होने के एक महीना पहले ही केंद्र को अगले मुख्य न्यायाधीश या सीजेआई का नाम देना होता है। फिलहाल 26 अगस्त, 2022 तक जस्टिस एनवी रमना का कार्यकाल सुप्रीम कोर्ट (supreme court) के न्यायाधीश के रूप में है।

आपको बता दें कि नयमानुसार वर्तमान सीजेआई एसए बोबडे ने सुप्रीम कोर्ट के दूसरे वरिष्ठ न्यायाधीश एनवी रमना के नाम की सिफारिश अगले सीजेआई के तौर पर की थी। वर्तमान सीजेआई का अगले सीजेआई के नाम की सिफारिश करते हुए पत्र भेजने के बाद केंद्र अगले चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया को नियुक्त किए जाने का कार्य आरंभ कर देता है।

यह भी पढ़ें… MP Board: 10वीं-12वीं बोर्ड परीक्षार्थियों को मिली राहत, मंत्री इंदर सिंह परमार का बड़ा बयान

जस्टिस एनवी का जीवनकाल:

27 अगस्त, 1957 में जस्टिस एनवी रमना का जन्म आंध्र प्रदेश के कृष्णा जिले के पुन्नावरम गांव में हुआ था। उन्होंने पढ़ाई में एलएलबी की डिग्री ली जिसके बाद 10 फरवरी, 1983 को वह पंजीबद्ध वकील बने। 27 जून, 2000 को जस्टिस रमना आंध्र प्रदेश के हाई कोर्ट के स्थायी जज के रूप में नियुक्त हुए। इसके बाद 10 मार्च, 2013 से लेकर 20 मई, 2013 तक उन्होंने आंध्र प्रदेश हाईकोर्ट में मुख्य न्यायाधीश के रूप में कार्यभार संभाला। 2 सितंबर, 2013 को वे दिल्ली हाई कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश बने और 17 फरवरी 2014 को सुप्रीम कोर्ट के न्यायाधीश के रूप में उन्होंने पदभार ग्रहण किया। अब 26 अगस्त, 2022 को सेवानिवृत्त होने से पहले वे 24 अप्रैल को देश के मुख्य न्यायाधीश के रूप में पदभार संभालेंगे।