Lok Sabha Election 2024: अमित शाह का तंज, 4 जून को राहुल गांधी प्रेस कांफ्रेंस कर कहेंगे EVM के कारण हम हारे

पीओके पर फिर बोलते हुए गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि कांग्रेस पार्टी कहती है कि पाकिस्तान के पास एटम बम है, PoK मत मांगिए। अरे राहुल बाबा आपकी पार्टी एटम बम से डरती होगी, हम भाजपा वाले नहीं डरते। आज मैं यहां से कहकर जाता हूं कि PoK भारत का था, है और हम इसे लेकर रहेंगे।

Amit Shah

Lok Sabha Election 2024: लोकसभा चुनाव का अंतिम चरण नजदीक आ गया है, 1 जून को सातवें और अंतिम चरण का मतदान होगा, सातवें चरण में उत्तर प्रदेश की भी कुछ सीटों पर मतदान होना है, इसके लिए वोट अपील करने गृह मंत्री अमित शाह उत्तर प्रदेश के कुशी नगर पहुंचे, यहाँ उन्होंने के आमसभा को संबोधित किया और विपक्ष पर जमकर हमला बोला। अमित शाह ने वहिनी मीलों, राम मंदिर, आरक्षण पीओके जसी मुद्दे उठाये।

4 जून को मोदी जी की, भाजपा की, NDA की विजय निश्चित है

गृह मंत्री अमित शाह ने कहा 6 चरण का मतदान समाप्त हो चुका है। मेरे पास 5 चरण का आंकड़ा है। 5 चरण में मोदी जी 310 सीटें पार कर चुके हैं। छठा चरण हो चुका है, सातवां होने वाला है, जिसमें आप लोगों को 400 पार कराना है। 4 जून को राहुल बाबा की पार्टी 40 भी पार नहीं कर पाएगी और अखिलेश बाबू 4 भी पार नहीं कर पाएंगे। देश की जनता ने तय किया है कि अगले 5 साल नरेन्द्र मोदी ही प्रधानमंत्री रहेंगे। 4 जून को मोदी जी की, भाजपा की, NDA की विजय निश्चित है। उन्होंने कहा कि 4 जून की दोपहर को आप देख लेना कि राहुल बाबा के लोग प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगे और कहेंगे कि EVM के कारण हम हारे हैं। हार का ठीकरा भी खड़गे साहब पर फूटेगा।

गन्ना किसानों और चीनी मिलों को लेकर सपा-बसपा पर निशाना  

बसपा और सपा पर हमला करते हुए अमित शाह ने कहा – मैं आज बहन मायावती और अखिलेश यादव से पूछना चाहता हूं कि कुशीनगर ‘चीनी का कटोरा’ नाम से प्रसिद्ध था, लेकिन आपके समय में 5-6 चीनी मिलें बंद हुईं। जबकि हमारी सरकार के समय में 20 चीनी मिलों को फिर से चालू करने का काम किया गया है। 38 चीनी मिलों की क्षमता में वृद्धि करने का काम योगी आदित्यनाथ जी की सरकार ने किया है। गन्ने की बुवाई का क्षेत्रफल भी 9 लाख हेक्टेयर बढ़ा है। 1995 से 2017 तक सपा-बसपा ने गन्ना किसानों को सिर्फ 23 हजार करोड़ रुपये का भुगतान किया था, जबकि 2017 से 2024 तक 2 लाख 50 हजार करोड़ रुपये का भुगतान भाजपा की सरकार ने किया है।

हम इस देश में धर्म के आधार पर आरक्षण नहीं होने देंगे

आरक्षण के मुद्दे को उठाते हुए अमित शाह ने कहा इंडिया गठबंधन के लोग झूठ के आधार पर जीने वाले लोग हैं। इन्होंने कहा है कि हम मुस्लिम आरक्षण देंगे। अगर गलती से भी ये जीत गए, तो पिछड़ा, अति पिछड़ा और दलित का आरक्षण छीनकर ये मुसलमानों को देने का काम करेंगे। इन्होंने (इंडी गठबंधन) कर्नाटक और हैदराबाद में जो किया है, बंगाल में भी वही किया था, लेकिन वहां (बंगाल) हाईकोर्ट ने इस पर रोक लगा दी। मुस्लिम आरक्षण संविधान के अनुरूप नहीं है। अपने वोटबैंक को खुश करने के लिए ये मुस्लिम आरक्षण की बात करते हैं। जिसका सीधा खामियाजा पिछड़े वर्ग को भुगतना पड़ेगा। मगर आप चिंता मत कीजिए, न ये जीतने वाले हैं और न हम ऐसा होने देंगे। जब तक नरेन्द्र मोदी जी और भाजपा है, पिछड़ा वर्ग के आरक्षण को कोई हाथ नहीं लगा सकता। हम इस देश में धर्म के आधार पर आरक्षण नहीं आने देंगे।

राम मंदिर को लेकर सपा और कांग्रेस पर साधा निशाना 

गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि वो समाजवादी पार्टी की ही सरकार थी, जिसने कारसेवकों पर गोली चलाई थी। ये चुनाव कारसेवकों पर गोली चलाने वालों और राम मंदिर बनाने वालों के बीच है। सपा और कांग्रेस 70 साल से राम जन्मभूमि के मामले को अटका कर बैठे थे। मोदी जी ने 5 साल में ही केस भी जीता, भूमिपूजन भी किया और प्राण प्रतिष्ठा भी कर दी। मोदी जी ने सिर्फ राम मंदिर ही नहीं, बल्कि औरंगजेब द्वारा तोड़ा गया काशी विश्वनाथ का मंदिर भी बनाया और सोमनाथ का मंदिर भी सोने का बन रहा है।

PoK भारत का था, है और हम इसे लेकर रहेंगे

पीओके पर फिर बोलते हुए गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि कांग्रेस पार्टी कहती है कि पाकिस्तान के पास एटम बम है, PoK मत मांगिए। अरे राहुल बाबा आपकी पार्टी एटम बम से डरती होगी, हम भाजपा वाले नहीं डरते। आज मैं यहां से कहकर जाता हूं कि PoK भारत का था, है और हम इसे लेकर रहेंगे।


About Author
Atul Saxena

Atul Saxena

पत्रकारिता मेरे लिए एक मिशन है, हालाँकि आज की पत्रकारिता ना ब्रह्माण्ड के पहले पत्रकार देवर्षि नारद वाली है और ना ही गणेश शंकर विद्यार्थी वाली, फिर भी मेरा ऐसा मानना है कि यदि खबर को सिर्फ खबर ही रहने दिया जाये तो ये ही सही अर्थों में पत्रकारिता है और मैं इसी मिशन पर पिछले तीन दशकों से ज्यादा समय से लगा हुआ हूँ....पत्रकारिता के इस भौतिकवादी युग में मेरे जीवन में कई उतार चढ़ाव आये, बहुत सी चुनौतियों का सामना करना पड़ा लेकिन इसके बाद भी ना मैं डरा और ना ही अपने रास्ते से हटा ....पत्रकारिता मेरे जीवन का वो हिस्सा है जिसमें सच्ची और सही ख़बरें मेरी पहचान हैं ....