Lok Sabha Speaker Election: राहुल गांधी के आरोप पर राजनाथ सिंह का जवाब, “मेरी तीन बार खड़गे जी से बात हुई है”

मीडिया ने जब राजनाथ सिंह से राहुल गांधी के आरोपों पर सवाल किया तो केंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा - मल्लिकार्जुन खड़गे वरिष्ठ नेता हैं और मैं उनका सम्मान करता हूँ, कल से लेकर आज तक मेरी उनसे तीन बार बातचीत हो चुकी है।

Atul Saxena
Updated on -
Rahul-Kharge-Rajnath

Lok Sabha Speaker Election : पक्ष-विपक्ष की सहमति से लोकसभा स्पीकर चुने जाने की परम्परा टूटने के बाद अब आरोप प्रत्यारोप के दौर शुरू हो गए हैं, सरकार के खिलाफ विरोधी तेवर अपनाये हुए विपक्ष ने इसके लिए भाजपा और NDA को ही दोषी ठहरा दिया, राहुल गांधी ने आरोप लगाया कि खड़गे जी को कॉल बैक नहीं किया गया ये उनका अपमान हैं, राहुल के आरोप का राजनाथ सिंह ने जवाब देते  हुए कहा कि मेरी कल से तीन बार खड़गे जी से बात हुई है।

आजादी के बाद देश की 18वीं लोकसभा ऐसी लोकसभा होने जा रही है जहाँ स्पीकर को सांसद चुनेंगे यानि वोटिंग होगी, अभी तक ये आम सहमति से होता आया है लेकिन कांग्रेस और उनके गठबंधन INDIA ने इस बार अपना प्रत्याशी उतारकर इस परंपरा को तोड़ दिया।

राहुल गांधी का आरोप BJP ने खड़गे जी का अपमान किया, कॉल बैक नहीं किया 

मीडिया से बात करते हुए राहुल गांधी ने कहा कि राजनाथ सिंह ने मल्लिकार्जुन खड़गे जी को फोन किया था , उन्होंने कहा कि आप लोकसभा स्पीकर के लिए ओम बिरला का समर्थन करें तो उन्होंने कहा कि शर्त ये है कि डिप्टी स्पीकर का पद विपक्ष को मिलना चाहिए , जिसपर राजनाथ सिंह जी ने कहा था कि मैं कॉल  बैक करूँगा लेकिन नहीं किया। राहुल गांधी ने कहा कि एक तरफ मोदी जी कहते हैं कि विपक्ष का सकारात्मक सहयोग मिलना चाहिए फिर हमारे नेता का अपमान कर रहे हैं सीधी बात है इनकी नीयत साफ नहीं है।

राजनाथ का जवाब- मेरी तीन बार बात हो चुकी खड़गे जी से 

मीडिया ने जब राजनाथ सिंह से राहुल गांधी के आरोपों पर सवाल किया तो केंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा – मल्लिकार्जुन खड़गे वरिष्ठ नेता हैं और मैं उनका सम्मान करता हूँ, कल से लेकर आज तक मेरी उनसे तीन बार बातचीत हो चुकी है।

बहरहाल राहुल गांधी झूठ बोल रहे हैं या फिर राजनाथ सिंह ये तो मल्लिकार्जुन खड़गे ही बता सकते हैं लेकिन इस मामले में अभी तक उनका कोई बयान सामने नहीं आया है, लेकिन विपक्ष के तेवर बता रहे हैं कि पीएम मोदी के नेतृत्व वाली NDA की तीसरी पारी आसान नहीं होने वाली, देखना होगा कि पीएम मोदी कैसे विपक्ष की चालों को नाकाम करते हैं?


About Author
Atul Saxena

Atul Saxena

पत्रकारिता मेरे लिए एक मिशन है, हालाँकि आज की पत्रकारिता ना ब्रह्माण्ड के पहले पत्रकार देवर्षि नारद वाली है और ना ही गणेश शंकर विद्यार्थी वाली, फिर भी मेरा ऐसा मानना है कि यदि खबर को सिर्फ खबर ही रहने दिया जाये तो ये ही सही अर्थों में पत्रकारिता है और मैं इसी मिशन पर पिछले तीन दशकों से ज्यादा समय से लगा हुआ हूँ.... पत्रकारिता के इस भौतिकवादी युग में मेरे जीवन में कई उतार चढ़ाव आये, बहुत सी चुनौतियों का सामना करना पड़ा लेकिन इसके बाद भी ना मैं डरा और ना ही अपने रास्ते से हटा ....पत्रकारिता मेरे जीवन का वो हिस्सा है जिसमें सच्ची और सही ख़बरें मेरी पहचान हैं ....

Other Latest News