National Space Day: हर साल 23 अगस्त को मनाया जाएगा राष्ट्रीय अंतरिक्ष दिवस, पीएम नरेंद्र मोदी ने किया ऐलान

National Space Day: चंद्रयान 3 से चाँद की सतह पर लैंडिंग कर लिया है। जिसे लेकर पूरे देश में उल्लास है। इस उपलब्धि के लिए इसरो के वैज्ञानिकों से मुलाकात करने और उन्हें बधाई देने पीएम नरेंद्र मोदी 26 अगस्त को बेंगलुरू के इसरो टेलीमेट्री ट्रैकिंग एंड कमांड नेटवर्क मिशन कॉम्प्लेक्स पहुंचे। यहाँ उन्होनें कई बड़ी घोषणाएं की है। 23 को अब “राष्ट्रीय अंतरिक्ष दिवस” के रूप में मनाया जाएगा।

पीएम मोदी ने क्या कहा?

पीएम मोदी ने कहा, “पीएम मोदी ने कहा, “23 अगस्त को जब भारत ने चंद्रमा पर तिरंगा फहराया, उस दिन को अब नेशनल स्पेस डे” के रूप में मनाया जाएगा।” बता दें कि चंद्रयान-3 लैंडर चंद्रमा की सतह पर जिस स्थान पर उतरा, इस पॉइंट को “शिव शक्ति” नाम दिया गया है। इस दौरान प्रधानमंत्री ने वैज्ञानिकों की सराहना की।

Continue Reading

About Author
Manisha Kumari Pandey

Manisha Kumari Pandey

पत्रकारिता जनकल्याण का माध्यम है। एक पत्रकार का काम नई जानकारी को उजागर करना और उस जानकारी को एक संदर्भ में रखना है। ताकि उस जानकारी का इस्तेमाल मानव की स्थिति को सुधारने में हो सकें। देश और दुनिया धीरे–धीरे बदल रही है। आधुनिक जनसंपर्क का विस्तार भी हो रहा है। लेकिन एक पत्रकार का किरदार वैसा ही जैसे आजादी के पहले था। समाज के मुद्दों को समाज तक पहुंचाना। स्वयं के लाभ को न देख सेवा को प्राथमिकता देना यही पत्रकारिता है। अच्छी पत्रकारिता बेहतर दुनिया बनाने की क्षमता रखती है। इसलिए भारतीय संविधान में पत्रकारिता को चौथा स्तंभ बताया गया है। हेनरी ल्यूस ने कहा है, " प्रकाशन एक व्यवसाय है, लेकिन पत्रकारिता कभी व्यवसाय नहीं थी और आज भी नहीं है और न ही यह कोई पेशा है।" पत्रकारिता समाजसेवा है और मुझे गर्व है कि "मैं एक पत्रकार हूं।"