Rain Havoc: देश में बारिश का कहर, दिल्ली से हिमाचल तक तालाब बनी सड़के, भूस्खलन और बिजली गिरने से 34 की मौत

Rain havoc

Rain Havoc In India: भारत के उत्तर पश्चिम राज्य में भारी बारिश के चलते तबाही का आलम देखा जा रहा है। बीते 24 घंटे में हुई मूसलाधार बारिश के चलते भूस्खलन, बाढ़, घर ध्वस्त होने समेत पेड़ और बिजली गिरने से कई लोगों में अपनी जान गवा दी है। सबसे ज्यादा कहर हिमाचल में देखने को मिल रहा है जहां 11 लोगों की जान चली गई है। यूपी, उत्तराखंड, दिल्ली, हरियाणा, जम्मू कश्मीर और पंजाब में भी बारिश आफत बन गई है।

पहाड़ी राज्यों में बारिश भूस्खलन का कारण बन रही है। वहीं राजधानी दिल्ली समेत मैदानी राज्यों में बारिश ने सड़कों को तालाब बना दिया है। हिमाचल में जहां सालों पुराना पुल बह गया, तो वहीं दिल्ली में 41 साल बाद भारी बारिश का दौर देखा गया। यमुना का पानी खतरे के निशान के करीब पहुंच चुका है। उत्तर रेलवे में 17 ट्रेनों को रद्द कर 12 के रास्ते बदल दिए हैं।

हिमाचल में तबाही

हिमाचल में बारिश शुरू होने के बाद तबाही का दौर देखने को मिल रहा है। बादल फटने के चलते व्यास नदी के पानी में अचानक हुई बढ़ोतरी में बाढ़ का रूप ले लिया। इसकी चपेट में 3 पुल एक एटीएम और 4 दिखाने आई हैं। अगले 48 घंटे के लिए रेड और ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है।

 

बह गई गाडियां

हिमाचल में बादल फटने के बाद व्यास नदी के पानी में जो उस वजह से कुल्लू मनाली में कई गाड़ियां बह गई है। भूस्खलन के चलते 5 नेशनल हाईवे और 736 सड़के बंद हो गई है। कालका शिमला ट्रैक पर मलबा गिरने की वजह से ट्रेन का आवागमन रोक दिया गया है।

 

खतरे के निशान पर यमुना

दिल्ली में यमुना नदी का पानी खतरे के निशान के करीब पहुंच चुका है। जिसके चलते प्रशासन द्वारा बाहर की चेतावनी जारी की गई है। हथिनी कुंड बैराज से लगातार पानी छोड़ा जा रहा है, जिसके चलते यमुना के जलस्तर में भारी बढ़ोतरी हुई है।

 

पंजाब, हरियाणा और उत्तराखंड का हाल

पंजाब के पटियाला, फतेहगढ़, होशियारपुर समेत विभिन्न जिलों में भारी बारिश का दौर देखा जा रहा है। पटियाला में बाढ़ का अलर्ट जारी करते हुए नीचे हिस्सों के मकानों को खाली करवाया गया है।

उत्तराखंड में अगले 2 दिनों के लिए भारी बारिश का ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है। भूस्खलन के चलते 175 से ज्यादा सड़के बंद है, वहीं रात 8 बजे से सुबह 5 बजे तक यमुनोत्री गंगोत्री हाईवे बंद रखा जाएगा। हरियाणा के कुरुक्षेत्र, अंबाला, करनाल समेत कई जिलों में भारी बारिश देखी गई। सबसे ज्यादा वर्षा अंबाला जिले में हुई है।


About Author
Diksha Bhanupriy

Diksha Bhanupriy

"पत्रकारिता का मुख्य काम है, लोकहित की महत्वपूर्ण जानकारी जुटाना और उस जानकारी को संदर्भ के साथ इस तरह रखना कि हम उसका इस्तेमाल मनुष्य की स्थिति सुधारने में कर सकें।” इसी उद्देश्य के साथ मैं पिछले 10 वर्षों से पत्रकारिता के क्षेत्र में काम कर रही हूं। मुझे डिजिटल से लेकर इलेक्ट्रॉनिक मीडिया का अनुभव है। मैं कॉपी राइटिंग, वेब कॉन्टेंट राइटिंग करना जानती हूं। मेरे पसंदीदा विषय दैनिक अपडेट, मनोरंजन और जीवनशैली समेत अन्य विषयों से संबंधित है।

Other Latest News