कांग्रेस विधायक

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। देश की राजधानी दिल्ली (Delhi) में कोरोना (Coronavirus) का कहर जारी है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता (Congress Leader) और पूर्व मंत्री डॉ. अशोक कुमार वालिया (Former Minister Dr. AK Walia) का कोरोना से निधन हो गया है। बीते दिनों वे कोरोना की चपेट में आ गए थे, जिसके बाद उन्हें दिल्ली के अपोलो हॉस्पिटल (Apollo Hospital) में भर्ती करवाया गया था, वही देर रात 1 बजकर 30 मिनट पर निधन हो गया।

यह भी पढ़े.. कोरोना प्रभारी मंत्री कमल पटेल की दो टूक- अपने मोबाइल चालू रखें सभी अधिकारी

उनके निधन की खबर लगते ही कांग्रेस में शोक की लहर दौड़ गई है।वह वर्ष 1993 में दिल्ली प्रदेश (Madhya Pradesh) की पहली विधानसभा से ही वह हर बार चुने गए थे, लेकिन 2015 में लक्ष्मीनगर विधानसभा सीट (Laxmi Nagar Assembly Seat) और 2021 में दिल्ली विधानसभा चुनाव (Delhi Assembly Elections) से हार गए।

कांग्रेस नेता वालिया दिल्ली कांग्रेस के दिग्गज नेताओं में शुमार रखते थे। वे दिवंगत दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित (Former Chief Minister Sheila Dixit) के भी करीबी माने जाते थे। वे शीला दीक्षित सरकार में ऊर्जा और स्वास्थ्य मंत्री रहे थे। पूर्वी दिल्ली में ही नहीं, बल्कि समूची दिल्ली में उन्हें बेहतरीन डॉक्टर के साथ अच्छा इंसान माना जाता था। वह हमेशा लोगों की मदद के लिए तैयार रहते थे।

यह भी पढ़े.. मप्र में कोरोना का तांडव जारी- 12384 नए केस और 75 की मौत, सीएम ने बुलाई बड़ी बैठक

दिल्ली कांग्रेस के अध्यक्ष अनिल कुमार ने ट्वीट करके कहा कि अपार दुःख के साथ सूचित करना पड़ रहा है कि हमारे दिल्ली कांग्रेस के लोकप्रिय नेता एवं पूर्व मंत्री दिल्ली सरकार (Delhi Government) डॉ अशोक कुमार वालिया जी का आज दिनांक 22-04-2021 को कोरोना बीमारी के कारण इन्द्रप्रस्थ अपोलो अस्पताल में स्वर्गवास हो गया है।

वही आज सुबह CPM महासचिव और वरिष्ठ नेता सीताराम येचुरी (Sitaram Yechury) के बड़े बेटे आशीष येचुरी का भी गुरूग्राम (Gurugram) के मेदांता अस्पताल (Medanta Hospital) में कोरोना से निधन हो गया 35 साल के आशीष करीब 2 हफ्ते से बीमार थे। सीताराम येचुरी ने ट्वीट कर लिखा है कि बेहद दुख के साथ ये जानकारी देनी पड़ रही है कि मैंने अपने बड़े बेटे आशीष येचुरी को आज सुबह कोविड के कारण खो दिया है। मैं उन सभी का धन्यवाद कहना चाहता हूं जिन्होने हमें हौंसला दिया। डॉक्टर, नर्स, हैल्थ वर्कर, सेनिटेशन स्टाफ हमारे साथ पूरी तरह खड़ा रहा। इस घटना से परिवारजन गहरे शोक में है।