एसी में सफर होगा सस्ता, ट्रेन के एसी-3 कोच से कम होगा एसी-3 इकोनॉमी कोच का किराया

दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। लगातार बढ़ती महंगाई के बीच राहत भरी खबर है। कि अब सस्ते दर पर एसी ट्रेन में लोगों को सफर करने की सुविधा मिलेगी। दरअसल, एसी3 इकोनॉमी क्लास कोचों में सामान्य एसी 3 टियर कोच की तुलना में सफर सस्ता होगा। भारतीय रेल ने नए एसी-3 इकोनॉमी क्लास का किराया तय कर दिया है, इसका किराया एसी-3 क्लास के किराये से करीब 8 फीसदी कम होगा। एसी 3 इकोनॉमी क्लास कोचों में कुछ ख़ास सुविधाएं रखी गई हैं। रेलवे ऐसे कोच को ट्रेनों में लगाने जा रहा है। इसके लिए ट्रेनों से स्लीपर क्लास के कोच कम किए जाएंगे। भविष्य में गरीब रथ ट्रेनों में भी एसी-3 इकॉनोमी कोच ही इस्तेमाल किए जाएंगे। इसका मकसद स्लीपर क्लास के मुसाफिरों को कम किराये में एसी क्लास में सफर का मौका देना है।

Sagar News: पूरी हुई प्रहलाद की तपस्या, 20 साल बाद लौटेंगे अपने वतन

फिलहाल कपूरथला रेल कोच फैक्ट्री में एसी-3 इकॉनोमी क्लास के 50 कोच तैयार किए गए हैं। ये कोच देशभर में अलग-अलग रेलवे ज़ोन को भेजा गया है. अभी इन्हें अलग-अलग ट्रेनों में लगाने की योजना तैयार की जा रही है। रेलवे इस साल एसी-3 इकॉनोमी के 800 कोच तैयार करने जा रहा है. इनमें 300 कोच इंटिग्रल कोच फैक्ट्री चेन्नई, 285 कोच मॉडर्न कोच फैक्ट्री रायबरेली और  177 रेल कोच फैक्ट्री कपूरथला में तैयार किए जाएंगे।

Chhindwara : वेकोलि के परासिया में पदस्थ एसओ की अचानक हुई मौत सवालों के घेरे में !

एसी3 टियर इकॉनोमी क्लास में 83 बर्थ है। इसके लिए साइड में 2 की जगह 3 बर्थ रखे गए हैं
जबकि एसी-3 में 72 बर्थ होते हैं,यानि एसी-3 इकॉनोमी क्लास में एसी-3 के मुक़ाबले करीब 15 फीसदी ज्यादा बर्थ हैं। इसका मतलब है कि रेलवे को एसी-3 इकोनॉमी क्लास के डब्बे से ज्यादा फायदा होने वाला है। पूर्व रेल मंत्री लालू प्रसाद यादव के जमाने में भी साइड में 3 बर्थ के साथ गऱीब रथ ट्रेनें शुरू की गई थीं। हालांकि गरीब रथ का किराया एसी-3 के किराये से 15 फीसदी कम रखा गया था। रेलवे में अब भी 26 गरीब रथ ट्रेनें अप-डाउन में चलती हैं। यानि कुल 52 गरीब रथ ट्रेनें अब भी सेवा में हैं इस ट्रेनों के लिए रेलवे के पास 25 रेक हैं।