World Population Day 2022 : विश्व जनसंख्या दिवस आज, जानिये इस साल की थीम और उद्देश्य

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। आज विश्व जनसंख्या दिवस (World Population Day 2022) है। इस साल की थीम ‘8 बिलियन की दुनिया: सभी के लिए एक लचीले भविष्य की ओर-अवसरों का दोहन और सभी के लिए अधिकार और विकल्प सुनिश्चित करना’ है। सीएम शिवराज सिंह चौहान ने भी इस अवसर पर ट्वीट करते हुए कहा है कि ‘देश और दुनिया की प्रगति एवं उन्नति के लिए जनसंख्या का नियंत्रित होना परम आवश्यक है। जनसंख्या विस्फोट से होने वाले खतरे को समझकर हमें राष्ट्र के साथ-साथ विश्व के कल्याण के लिए मंथन करना होगा और जगत के मंगल एवं शुभत्व के लिए संकल्पित प्रयास करना होगा।’

विश्व जनसंख्या दिवस की शुरुआत 1989 में संयुक्त राष्ट्र महासभा के साथ हुई थी। उस समय विश्व की आबादी 5 अरब तक पहुंची थी और संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम की गवर्निंग काउंसिल इसे लेकर चिंता प्रकट की गई थी। इसी के साथ लोगों को फैमिली प्लानिंग के लिए प्रेरित करने और जनसंख्या नियंत्रित करने की दिशा में जागरूकता फैलाने के उद्देश्य से ये दिन मनाने का निर्णय लिया गया। तब से हर साल अलग अलग थीम पर विश्व जनसंख्या दिवस मनाया जा रहा है। हालांकि पहले विश्व जनसंख्या दिवस के साथ-साथ मनुष्य के विकास का जश्न मनाया जाता था, लेकिन जैसे जैसे पॉपुलेशन ब्लास्ट हो रहा है अब इस दिन सिर्फ बढ़ती जनसंख्या को नियंत्रित करने और इसकी खामियों को बताते हुए जागरूकता फैलाने के लिए ये दिन मनाया जाता है। अलग अलग वर्षों में बढ़ती जनसंख्या, परिवार नियोजन, गरीबी, यौन समानता, गर्भनिरोधर उपाय, नागरिक अधिकार, मातृ स्वास्थ्य सहित कई महत्वपूर्ण मुद्दों को समाहित किया गया है।

बढ़ती जनसंख्या दुनियाभर के लिए एक बड़ी समस्या है। जनसंख्या बढ़ने के साथ ही हमें कई तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। प्राकृतिक संसाधनों का दोहन बढ़ रहा है और हम अपने पर्यावरण के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं। इस कारण ग्लोबल वॉर्मिंग जैसी विश्वव्यापी समस्या बढ़ रही है। साथ ही दुनिया के अलग अलग हिस्सों में जनसंख्या के कारण अव्यवस्थाएं फैल रही है। भारत जैसे देश में जहां पहले ही गरीबी और बेरोजगारी जैसी समस्याएं हैं..जनसंख्या वृद्धि सामाजिक असंतुलन को बढ़ाने का काम करती है। इसीलिए आवश्यक है कि हम इस संकट की गंभीरता को समझें और इस दिशा में हर व्यक्ति अपने स्तर पर काम करे।