RGPV ONLINE EXAM : पहले ही दिन सर्वर डाउन, हजारों स्टूडेंट हुये परेशान

RGPV के Online exam शुरू हो गए। पहले ही दिन स्टूडेंट बहुत परेशान हुए। विश्व विद्यालय का सर्वर ठीक से नहीं चला।

ग्वालियर, अतुल सक्सेना | UGC यानि विश्वविद्यालय अनुदान आयोग के निर्देश पर आज से प्रदेश के इकलौते तकनीकी विश्वविद्यालय RGPV के Online exam शुरू हो गए। पहले ही दिन स्टूडेंट बहुत परेशान हुए। विश्व विद्यालय का सर्वर ठीक से नहीं चला। अधिकांश स्टूडेंट परेशान होते रहे लेकिन खास बात ये रही कि मदद के लिए विश्वविद्यालय ने जो हेल्प लाइन नंबर जारी किये थे उनपर बैठे लोगों ने स्टूडेंट्स की कोई मदद नहीं की उल्टा कह दिया कि सर्वर खुल जाए तो ठीक है वरना जब फिर परीक्षा हो दे देना।

कोरोना संकट के बीच विश्वविद्यालयों में पढ़ने वाले स्टूडेंट्स के भविष्य का हवाला देते हुए विश्वविद्यालय अनुदान आयोग यानि UGC ने देश के सभी विश्वविद्यालयों को अंतिम वर्ष के स्टूडेंट्स की परीक्षाएं Online कराने के निर्देश दे दिये। UGC के निर्देश के बाद विश्वविद्यालयों ने परीक्षाओं की तारीख घोषित कर दी जिसके हिसाब से आज से यानि 24 अगस्त से RGPV की इंजीनियरिंग की बैचलर डिग्री की फाइनल ईयर की परीक्षा शुरू हो गई लेकिन पहले ही दिन स्टूडेंट्स को बहुत परेशानी का सामना करना पड़ा। सबसे ज्यादा परेशान RGPV के सर्वर ने किया। तीन बजे पेपर शुरू हो गया और कुछ स्टूडेंट्स की लिंक ओपन हो गई लेकिन जैसे ही सर्वर पर लोड पड़ा लिंक ओपन होना बंद हो गई स्टूडेंट्स परेशान होते रहे। लेकिन कोई सुनने वाला नहीं था। RGPV ने 24 अगस्त के Online exam के लिए हेल्प लाइन नंबर जारी किये थे। स्टूडेंट्स ने जब इन नंबरों पर हेल्प मांगी तो जवाब मिला कि ट्राई करते रहिये, वरना जब अगली बार exam हो तो दे देना। यानि मदद के लिये बैठाये गए लोगों से स्टूडेंट्स को कोई मदद ही नहीं मिली। स्टूडेंट्स की लिंक ओपन हुई या नहीं लेकिन तीन बजे शुरू हुआ पेपर दो घंटे बाद ठीक पांच बजे ऑटोमैटिक सबमिट हो गया।

पहले पेपर में एक परेशानी वाली बात ये रही कि BE मैकेनिकल फाइनल ईयर का पेपर आउट ऑफ सिलेबस आया। यानि इसमें बहुत से प्रश्न सिलेबस के बाहर थे। कहने को पेपर MCQ पैटर्न पर था और ओपन बुक प्रणाली पर था लेकिन जब प्रश्न ही सिलेबस के बाहर के आये तो स्टूडेंट्स क्या जवाब देते। परीक्षा के इस तरीके से ज्यादातर स्टूडेंट्स ये कहते सुनाई दिये कि तक और विश्वविद्यालय हमारा भविष्य सुधारना चाहते हैं कि भविष्य से खिलवाड करना चाहते हैं। बहरहाल BE की लिखित परीक्षाएं 31 अगस्त तक चलेंगी अब देखना ये है कि बाकी पेपर्स में स्टूडेंट्स को परेशानी होती है या विश्वविद्यालय आज की दिक्कतों सर कोई सबक लेता है।