शुक्र गोचर और 3 बड़े राजयोग : पलटेगी 3 राशियों की किस्मत, 24 अप्रैल तक गोल्डन टाइम, अपार धनलाभ-तरक्की, बढ़ेगा मान-सम्मान

ज्योतिष के मुताबिक, शुक्र यदि कुंडली में लग्न अथवा चन्द्रमा से 1, 4, 7 अथवा 10वें घर में वृष, तुला अथवा मीन राशि में स्थित है तो कुंडली में मालव्य राजयोग बनता है। इससे काव्य, गीत, संगीत, फिल्म, कला और इसी तरह के कार्यों में वह सफलता अर्जित करता है।

Rajyog, राजयोग

Vipreet/lakshmi/Malavya Rajyog 2024: धन, संपत्ति, ऐश्वर्या, यश, सौंदर्य और वैभव के कारक शुक्र एक निश्चित अवधि के बाद 31 मार्च को अपनी उच्च राशि मीन राशि में प्रवेश कर गए हैं और 23 अप्रैल तक यही रहने वाले हैं।दैत्यों के गुरु शुक्र के अपनी उच्च राशि में आने से अन्य ग्रहों के साथ युति बनने से 3 बड़े राजयोग का निर्माण हुआ है। एक तरफ शुक्र ने अपनी उच्च राशि मीन राशि में प्रवेश कर मालव्य राजयोग बनाया है।

ज्योतिष के मुताबिक, मीन राशि में मायावी ग्रह राहु और शुक्र की युति से विपरित राजयोग बना है, क्योंकि राहु पहले से ही मीन में विराजमान है।खास बात ये है कि 50 साल बाद यह पहला मौका है जब दोनों ग्रहों एक साथ मीन राशि में आ गए है। इसके अलावा ग्रहों के राजकुमार और बुद्धि के दाता बुध अस्त अवस्था में 9 अप्रैल को गुरु की राशि मीन राशि में प्रवेश कर रहे हैं, जहां वे 10 मई तक रहेंगे, ऐसे में मीन राशि में बुध-शुक्र की युति से लक्ष्मी नारायण राजयोग का निर्माण होगा, इन 3 राजयोग से 3 राशियों को विशेष फल प्राप्त होगा।

Continue Reading

About Author
Pooja Khodani

Pooja Khodani

खबर वह होती है जिसे कोई दबाना चाहता है। बाकी सब विज्ञापन है। मकसद तय करना दम की बात है। मायने यह रखता है कि हम क्या छापते हैं और क्या नहीं छापते। "कलम भी हूँ और कलमकार भी हूँ। खबरों के छपने का आधार भी हूँ।। मैं इस व्यवस्था की भागीदार भी हूँ। इसे बदलने की एक तलबगार भी हूँ।। दिवानी ही नहीं हूँ, दिमागदार भी हूँ। झूठे पर प्रहार, सच्चे की यार भी हूं।।" (पत्रकारिता में 8 वर्षों से सक्रिय, इलेक्ट्रानिक से लेकर डिजिटल मीडिया तक का अनुभव, सीखने की लालसा के साथ राजनैतिक खबरों पर पैनी नजर)