पापांकुशा एकादशी व्रत करने से नष्ट होंगे पाप, मिलेगा लाभ, इन बातों का रखें खास ख्याल, जानें यहाँ

शास्त्रों के मुताबिक व्रत के दौरान कुछ ऐसी बातें हैं जिनका खास खयाल रखना बहुत जरूरी होता है, वर्ना कई मुसीबतें भी सामने आ सकती हैं।

dev uthani ekadashi

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। हर साल अश्विन मास के शुक्ल पक्ष पर पापांकुशा एकादशी (Papankusha Ekadashi) मनाई जाती है। इस दिन पड़ने वाली एकादशी व्रत का हिंदू धर्म में बहुत ही खास महत्व होता। हिन्दू पंचांग के मुताबिक इस साल पापांकुशा एकादशी 6 अक्टूबर हो पड़ रही है। साथ ही कई शुभ संयोग भी बन रहे। मान्यताएं हैं कि पापांकुशा एकादशी व्रत रखने से विष्णु लोक की प्राप्ति होती है और सारे पाप मिट जाते हैं। शास्त्रों के मुताबिक व्रत के दौरान कुछ ऐसी बातें हैं जिनका खास खयाल रखना बहुत जरूरी होता है, वरना कई मुसीबतें भी सामने आ सकती हैं।

यह भी पढ़े…Sarkari Naukari: DRDO में निकली कई पदों पर भर्ती, 14 अक्टूबर से पहले करें आवेदन, जानें आयु-पात्रता

पापांकुशा एकादशी व्रत रखने से पहले मांसाहारी खाद्य पदार्थों का सेवन करना वर्जित होता है। यदि आप व्रत करने जा रहे हैं तो उसके पहले भूलकर भी मांसाहार का सेवन ना करें। इसके अलावा पापांकुशा एकादशी व्रत के दिन बैंगन, मसूर की दाल और चावल आदि का सेवन करना बहुत ही अशुभ माना जाता है।

यह भी पढ़े…Psychological Hack : सामने वाले का मनोविज्ञान समझकर इस तरह करें स्थिति कंट्रोल

कहा जाता है कि पापांकुशा एकादशी व्रत के दिन शैंपू, तेल, साबुन का इस्तेमाल शरीर पर नहीं करना चाहिए। महिलाओं को बाल धोना भी मना होता है। बाल कटवाना, दाढ़ी बनाना और नाखून काटना इस दिन व्रत के दौरान करना बहुत ही अशुभ माना जाता है। साथ ही यदि आप पापांकुशा एकादशी का व्रत कर रहे हैं तो घर में झाड़ू लगाने से भी बचें। कहा जाता है कि पापांकुशा एकादशी व्रत के दौरान शाम को भगवान विष्णु के सामने दीपक जलाने से बहुत लाभ मिलता है और मृत्यु के बाद सूर्य लोक में स्थान मिलता है। व्रत यदि आपने भी दिया अपनी पापांकुशा एकादशी का व्रत करते हैं तो इस दिन पूजा के समय व्रत कथा का पाठ जरूर करें। ऐसा है कि ऐसा करने से सारे पाप नष्ट होते हैं और जीवन में बहुत लाभ मिलता है।

Disclaimer: इस खबर का उद्देश्य केवल शिक्षित करना है। एमपी ब्रेकिंग न्यूज इन बातों का दावा नहीं करता। कृपया विशेषज्ञों की सलाह जरूर लें।