Video : जब बीच नदी में बहने लगा हाथी का बच्चा, बाकी हाथियों ने इस तरह बचाई जान

सांकेतिक तस्वीर

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। हाथी झुंड में चलते हैं और एक दूसरे का पूरा खयाल रखते हैं। खासकर झुंड में शामिल बच्चों पर पूरे समूह की नजर होती है। वो इस बात का खयाल रखते हैं कि बच्चा इघर उधर भटके नहीं या फिर कहीं गिर न पड़े। हालांकि सारे बच्चों की तरह हाथी का बच्चा भी नटखट होता है, लेकिन उसकी सुरक्षा पूरे समूह की जिम्मेदारी होती है।

Video : हाथ का हुनर या आंखों का भ्रम, वीडियो देखकर पड़ जाएंगे हैरत में

हाथी काफी बुद्धिमान जानवर है। इसकी उम्र 50 से 70 साल तक रहती है और गर्भकाल 22 महीने का होता है। हाथी की याददाश्त भी काफी तीव्र होती है और देखा गया है कि एक बार अगर वो किसी मनुष्य से हिल मिल जाए तो सालों बाद भी उसे पहचान लेते हैं। जंगल में हाथी झुंड में चलते हैं और एक दूसरे की हिफाज़त करते हैं। हाथी दांत काफी कीमती होता है और कई बार इसके लिए इस निरीह प्राणी का शिकार कर लिया जाता है। ये भी कहा जाता है कि हाथी पानी की गंध को करीब पांच किलोमीटर दूर से ही सूंघ लेते हैं।

आज हम आपको जो वीडियो दिखाने जा रहे हैं उसमें कुछ हाथी और उनका एक बच्चा नदी पार कर रहे हैं। लेकिन बीच नदी में पानी का बहाव इतना तेज हो जाता है कि बच्चा उसमें बहने लगता है। ये देखकर एक हाथी उसे बचाने के लिए लपकता है। उतनी देर में नदी के अंदर और बाहर खड़े अन्य हाथी भी उसे बचाने आते हैं और सब मिलकर उसे बाहर निकाल लेते हैं। ये सब उस बच्चे के लिए सुरक्षा कवच की तरह खड़े हो जाते हैं। इस वीडियो को देखकर हाथियों की सामूहिकता और एकता का अंदाजा होता है।