BJP कार्यकर्ता की गोली मारकर हत्या, कांग्रेस नेता पर लगे आरोप, मचा बवाल

इंदौर/भोपाल।

मध्यप्रदेश के इंदौर में रविवार को वोटिंग के दौरान भाजपा कार्यकर्ता नेमीचंद तंवर की गोली मारकर हत्या कर दी गई।आरोप कांग्रेस नेता अरुण शर्मा  पर लगे है। बताया जा रहा है कि चुनाव को लेकर दोनों के बीच विवाद हो गया था और अरुण ने वाेटिंग खत्म हाेने के बाद देख लेने की धमकी दी थी और शाम को उनकी हत्या कर दी गई। घटना के बाद बीजेपी में आक्रोश है। पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने जल्द से जल्द आरोपी पर कार्रवाई ना करने पर सड़कों पर उतरने की चेतावनी दी है।

          दरअसल, रविवार को मालवा-निमाड़ में आखरी चरण की वोटिंग सम्पन्न हुई।इसी दौरान मतदान खत्म होने से कुछ देर पहले कांग्रेस के एक नेता ने बीजेपी के 60 वर्षीय कार्यकर्ता की कथित तौर पर गोली मारकर हत्या कर दी।  घटना के बाद क्षेत्र में भारी पुलिस बल तैनात किया गया है।आरोप है कि तंवर और उसके पुत्रों को लोकसभा चुनावों के मतदान के दौरान भाजपा के पक्ष में काम करने पर रविवार दोपहर गंभीर परिणाम भुगतने की धमकी दी गयी थी।  चुनावी दौर की प्रदेश में ये पहली और बड़ी हत्या है। आरोपी फरार हैं।  बेटे राहुल के मुताबिक अरुण शर्मा कांग्रेस कार्यकर्ता है और स्वास्थ्य मंत्री तुलसी सिलावट का समर्थक है।इस मामले में मंत्री सिलावट की प्रतिक्रिया जाननी चाही, लेकिन उनसे संपर्क नहीं हो सका।


     वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) रुचिवर्धन मिश्रा ने  बताया कि कांग्रेस नेता अरुण शर्मा पर आरोप है कि उसने पालिया गांव में नेमीचंद तंवर (60) को उसके घर के बाहर सम्भवतः देशी कट्टे से नजदीक से गोली मारी. यह वारदात शाम 05:30 बजे के आस-पास की है। इस दौरान शर्मा के दो बेटे भी उसके साथ थे। उन्होंने बताया कि तंवर को अस्पताल ले जाया गया, लेकिन डॉक्टर उसकी जान नहीं बचा सके. मिश्रा ने बताया कि हत्याकांड की जांच की जा रही है, फरार आरोपियों की तलाश जारी है।


बीजेपी ने की उचित कार्रवाई की मांग

चुनाव में हार के भय से कांग्रेस बौखला गई है। इंदौर के पास पालिया गांव में भाजपा कार्यकर्ता नेमीचंद तंवर की गोली मारकर हत्या कर दी गई। इसमें मंत्री तुलसी सिलावट के गुंडों का हाथ है। सरकार दोषियों के खिलाफ तुरंत कार्रवाई करे।भाजपा के पक्ष में मतदान करने के कारण उनके परिवार पर हमला हुआ और गोली मारकर हत्या कर दी गई। सरकार ने तुरंत ही कार्रवाई नहीं की तो सड़क पर संघर्ष किया जाएगा

शिवराज सिंह चौहान, पूर्व मुख्यमंत्री, मप्र 

कांग्रेस अब खून-खराबे पर उतर आई है। कांग्रेस ने पुलिस प्रशासन को अपनी जेब में रख लिया है। राजनीतिक रंजिश का शिकार बना' तंवर भाजपा का सक्रिय कार्यकर्ता था।मामले का मुख्य आरोपी कांग्रेस नेता अरुण शर्मा राज्य के स्वास्थ्य मंत्री तुलसी सिलावट का करीबी है।मामले के आरोपियों को जल्द गिरफ्तार कर उनके खिलाफ सख्त कानूनी कार्रवाई की जाए। 

राकेश सिंह, प्रदेश अध्यक्ष, मप्र 



"To get the latest news update download the app"