RSS के फीडबैक से बीजेपी में खलबली, सिंधिया का घेराव करने माया को किया आगे

भोपाल।  मध्यप्रदेश में विधानसभा चुनाव का महाभारत उफान पर है। बीजेपी ने अपने अश्वमेघ के घोड़े कांग्रेस सांसद और पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया के गढ़ में उतार दिए हैं। बीजेपी को इस बार सबसे ज्यादा चिंता सिंधिया के क्षेत्र की है। ग्वालियर, शिवपुरी और गुना में बीजेपी सभी सीटों पर सेंध लगाना चाह रही है। शिवपुरी में पार्टी के पास सिंधिया की बुआ यशोधरा राजे के सिवा कोई भी कद्दावर नेता नहीं है। यहां बीजेपी सबसे कमजोर है। अगर वह इस बार सिंधिया के गढ़ में सेंध लगाने में कामयाब होती है तो इसका लाभ उसे लोकसभा चुनाव में भी मिलेगा। 

सिंधिया का उनके घर में ही घेराव करने के लिए बीजेपी ने केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर को जिम्मेदारी सौंपी है। इस काम को अंजाम देने में वर्तमान मंत्री माया सिंह उनका साथ देंगी। माया सिंह सिंधिया घराने से ताल्लुक रखती हैं। हालांकि, पार्टी ने इस बार उनका टिकट काट दिया है। बीजेपी को इस बात की चिंता सता रही है कि आरएसएस काडर चुनाव में कोई उत्साह नहीं दिखा रहा है। पार्टी नेताओं का दावा है कि वह बैठक कर इस मसले को जल्द हल करेंगे। आरएसएस ने अपने एक सर्वे में सिंधिया के क्षेत्र में बीजेपी को कमजोर बताया है। साथ ही सलाह दी है कि यहां सबसे ज्यादा मेहनत करने की जरूरत है। 

बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने मीडिया को बताया कि पार्टी के कई दिग्गज नेता गुना, शिवपुरी और ग्वालियर में प्रचार करेंगे। इनमें ओबीसी और दलित नेता भी शामिल होंगे। इस बार भी प्रदेश में सीएम शिवराज सिंह चौहान ही पार्टी का चेहरा हैं। उनके नेतृत्व में पार्टी जीत हासिल करेगी। पीएम मोदी भी प्रदेश में चुनाव प्रचार करेंगे। फिलहाल वह पड़ोसी राज्य छत्तीसगढ़ में व्यस्त हैं। लेकिन जल्द ही वह एमपी दौरे भी शुरू करेंगे।