Breaking News
अब मंत्री-परिषद के सदस्य उतरेंगें सड़कों पर, जनता को समझाएंगे 'सड़क सुरक्षा' के नियम | 28 सितंबर को फिर भारत बंद का ऐलान, इसके पीछे ये है वजह | 12वीं पास के लिए सरकारी नौकरी पाने का सुनहरा मौका, जल्द करें अप्लाई | शर्मनाक : युवक की हत्या के शक में महिला को निर्वस्त्र कर घुमाया, पथराव-आगजनी, 8 पुलिसकर्मी सस्पेंड | शिवराज कैबिनेट की बैठक खत्म, इन अहम प्रस्तावों को मिली मंजूरी | मॉर्निंग वॉक के दौरान EOW इंस्पेक्टर की मौत, हार्ट अटैक की आशंका | अखिलेश की नजर अब मप्र पर, 3 सितंबर को आएंगें इंदौर | अटल जी के निधन पर पूरे देश में शोक और भाजपा नेता निकाल रहे डीजे यात्रा : कांग्रेस | VIDEO : मोबाईल टॉवर पर चढ़ा शराबी, मचा रहा हंगामा, नीचे उतारने में जुटी पुलिस | चुनावी साल में शिवराज सरकार का मास्टर स्ट्रोक, कुपोषण मिटाने खर्च करेगी 57 हजार करोड़ |

दोस्ती में दगा: दोस्त की पत्नी से भाई की शादी कराने रची हत्या की साजिश, ऐसे सुलझी गुत्थी

आकाश धोलपुरे

इंदौर। क्या आपने कभी सोचा है कि शादीशुदा महिला से शादी करवाने के लिए कोई अपने ही दोस्त की हत्या कर सकता है। घटना इंदौर की और इस घटना में महिला की भूमिका के संबंध में भी जल्द ही खुलासा हो सकता है।  दरअसल, दोस्त की पत्नी से अपने फुफेरे भाई की शादी करवाने के लिए एक युवक ने ऐसा षड्यंत्र रचा, जिसने 3 परिवारों को बर्बाद कर दिया। दोस्त ने अपने फुफेरे भाई के साथ मिलकर अपने दोस्त का क़त्ल कर दिया। क़त्ल करने के बाद डेढ़ महीने तक वह अपने आपको सुरक्षित समझ रहा था लेकिन पुलिस आखिरकार हत्यारो तक पहुंच ही गई।  घटना दो माह पूर्व 19 जून की है जब सिमरोल थाना क्षेत्र के जंगल में पुलिस को एक लाश मिली थी।मृतक की शिनाख्त नहीं हो सकी थी, इस वजह से लाश को पुलिस ने एमवाय अस्पताल की मर्चुरी में रखवा दिया था। 24 जून को विजयनगर थाने में एक युवक की गुमशुदगी दर्ज हुई। पुलिस ने जब उस लाश से उसका मिलन किया तो मृतक की शिनाख्त राहुल कुमार के रूप में हो गयी।

राहुल मूलतः इलाहबाद का रहने वाला था और नौकरी की तलाश में कुछ समय पहले ही इलाहाबाद से शादी करके इंदौर में रहने आया था। यहाँ काम की तलाश करते हुए उसकी दोस्ती पड़ोस में रहने वाले दीपक ठाकुर से हो गयी थी।उसके पास मकान के किराये के रूपये नहीं होने की वजह से दीपक ने उसे अपने दोस्त के यहाँ रहने को फ्लैट दिलवाया था लेकिन यह फ्लैट दिलवाने के पीछे उसने एक योजना बना ली थी।दरअसल दीपक ठाकुर की बुआ के बेटे दिनेश राजपूत की उम्र 32 साल होने के बावजूद उसकी शादी नहीं हुई थी। दिनेश के लिए लड़की तलाशने के लिए उसके परिजन मेरिज ब्यूरो से सम्पर्क कर रहे थे, लेकिन हर जगह पर 80-90 हजार रुपयों की मांग की जा रही थी।इधर दीपक अपने ही दोस्त राहुल की पत्नी किरण से दोस्ती बढ़ाकर उसके साथ अवैध सम्बन्ध बना चुका था। सीएसपी विजयनगर जयंत सिंह राठौर ने बताया कि दीपक ने अपने भाई दिनेश को ऑफर दिया कि वह 50 हजार रुपयों में किरण से उसकी शादी करवा देगा। इसके लिए दिनेश राजी हो गया। दीपक ने अपने फुफेरे भाई दिनेश के साथ मिलकर राहुल को रास्ते से हटाने की योजना बनायी। उसने 19 जून को राहुल से कहा कि उसकी नौकरी लग गयी है इसके लिए उन्हें ओम्कारेश्वर जाना है।

राहुल के साथ दीपक और दिनेश भी ओम्कारेश्वर गए और वहा से लौटते समय दीपक ने योजना अनुसार सिमरोल के नजदीक बियर खरीदी और वह उसे सिमरोल के जंगल में ले गया।अधिक नशा होने के बाद दिनेश और दीपक ने मिलकर पहले उसका गला घोटा और फिर बियर की खाली बोतलों से उसका सिर फोड़कर उसकी पहचान छिपाने के लिए उसका चेहरा कुछ दिया और वहा से फरार हो गए। वापस लौटकर दीपक ने किरण को बताया कि राहुल की नौकरी लग गयी है और वह कुछ दिन बाहर ही रहेगा लेकिन राहुल से जब किरण का सम्पर्क नहीं हुआ तो उसने 24 जून को उसकी गुमशुदगी दर्ज करवाई। राहुल की शिनाख्त होने के बाद से मामले की जाँच में जुटी पुलिस ने दीपक को हिरासत में लेकर कड़ाई से पूछताछ की तो उसने अपने फुफेरे भाई के साथ मिलकर राहुल की हत्या करना कबूल कर लिया। इसके बाद पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार कर लिया। अब इस मामले में पुलिस किरण की भूमिका की भी जाँच कर रही है। पुलिस ने राहुल की मौत जानकारी उसके परिजनों को दे दी है और वो जल्द किरण के साथ इंदौर आने वाले है। जिसके बाद कई और खुलासे होने की संभावना है।

  Write a Comment

Required fields are marked *

Loading...