Breaking News
शिवराज कैबिनेट की अहम बैठक कल, इन प्रस्तावों पर लग सकती है मुहर | मौसम विभाग का अलर्ट, मप्र के इन जिलों में हो सकती है भारी बारिश | VIDEO : बिल्डिंग पर चढ़ आत्महत्या की धमकी देने लगा आरोपी, 4 घंटे चला हंगामा, पुलिस के हाथ पांव फूले | भाजपा नेता की गुंडागर्दी, चौकी प्रभारी को सरेआम पीटा, मामला दर्ज | दुष्कर्म के बाद 5 साल की मासूम की हत्या, घर के ही सेप्टिक टैंक में फेंकी लाश | ई-टेंडर घोटाला : जांच के लिए CFSL भेजी जाएगी हार्ड डिस्क | 21 अगस्त को भोपाल मे होने वाली 'अटल जी' की श्रद्धांजलि सभा में कांग्रेस भी होगी शामिल | 23 हजार ग्राम पंचायत और सभी शहरों में होंगी अटलजी की श्रद्धाजलि सभाएं | चुनाव से पहले यात्राओं का दौर, दिग्विजय के बाद जयवर्धन ने शुरू की पदयात्रा | नायब तहसीलदार का छलका दर्द, "संवर्ण हूँ इसलिए भुगत रहा सजा" |

IPL देखने पहुंचे मंत्री को गेट पर ही रोका, अफसरों पर भड़के, नाराज होकर वापस लौटे

इंदौर| होल्कर स्टेडियम में आईपीएल मैच के दौरान अव्यवस्थाओं से मंत्री विजय शाह नाराज हो गए| उनके वाहन को गेट पर ही रोक दिया गया, पहचान बताने के बाद भी उनकी गाड़ी अंदर नहीं जाने दी, जिस पर शाह बेहद नाराज हो गए और अफसरों को जमकर खरी खोटी सुनाई और मैच देखे बिना ही वापस लौट गए| 

दरअसल, होलकर स्टेडियम में किंग्स इलेवन पंजाब और रॉयल चैलेंजर बेंगुलूरु का मैच देखने सोमवार को शिक्षा मंत्री विजय शाह पहुंचे थे| लेकिन उन्हें वीआईपी ट्रीटमेंट नहीं मिला और अफसरों की टीम ऐसी बॉक्स में बैठकर मैच देखते रहे| अव्यवस्थाओं को देखकर मंत्री भड़क गए| स्टेडियम के गेट पर ही उनकी कार रोक दी और भीतर नहीं जाने दिया। मंत्री वाहन से उतरकर अपनी सीट तलाशते रहे लेकिन न कोई अधिकारी पहुंचा और न ही अन्य स्टाफ। इससे गुस्साए शाह मैच छोड़कर स्टेडियम से बाहर निकल गए। हालांकि मंत्री की नाराजगी देख कई अफसर उन्हें मनाने पहुंचे। काफी देर तक प्रयास करते रहे पर वह नहीं माने और रवाना हो गए।

शाह जब स्टेडियम में पहुंचे तो वहां उन्हें गैलरी में जगह मिली, वहीं पैवेलियन व बॉक्स में अफसर बच्चों सहित आनंद ले रहे थे। यह देखकर भी शाह भड़क उठे और बाहर आ गए|  उन्होंने अफसरों को खूब खरी-खोटी सुनाई। यही नहीं चेताया भी कि यह स्कूल का रास्ता है, अगली बार यहां से एंट्री कैसे होती है देखता हूं। उन्होंने कहा यह जगह विवेकानंद स्कूल की है। इस पर दीवार खिंचवा दूंगा। फिर कहां करोगे वीआईपी पार्किंग। अफसरों ने उनसे काफी आग्रह किया लेकिन वे रवाना हो गए। 

  Write a Comment

Required fields are marked *

Loading...