कार्यकर्ताओं से बातचीत के बाद करूंगा चुनाव लड़ने पर फैसला: सरताज सिंह

होशंगाबाद| जीतेन्द्र वर्मा| जिले की सिवनी मालवा सीट पर घमासान मचा हुआ है| बीजेपी ने फैसला अभी तक होल्ड रखा है, वहीं पूर्व मंत्री सरताज सिंह सिवनी मालवा सीट से चुनाव नहीं लड़ने का मन बना चुके हैं, उन्हें कांग्रेस से भी ऑफर मिला है| इस बीच एमपी ब्रेकिंग न्यूज़ से बातचीत में सरताज सिंह ने कहा है कि वह चुनाव लड़ेंगे या नहीं यह निर्णय वह कार्यकर्ताओं से बातचीत के बाद लेंगे| होशंगाबाद पहुंचे सरताज ने कहा वह सिवनी मालवा जा रहे हैं| वहां कार्यकर्ताओं से बात करेंगे| वे सुबह लगभग 10 बजे होशंगाबाद आये और यंहा से सीधे सिवनी मालवा के लिए निकल गए। सरताज़ ने कहा कि चुनाव को लेकर कार्यकर्ताओ से चर्चा के बाद ही कुछ होगा ।

दरअसल, प्रदेश की दो सीटों को लेकर सियासत गरमाई हुई है| चुनाव में अब कुछ ही दिन बाकी है, लेकिन विवादों के चलते कई सीटों पर अब तक बीजेपी प्रत्याशियों का ऐलान नहीं कर पाई है| वहीं बीजेपी से नाराज दिग्गज नेताओं पर कांग्रेस भी डोरे डाल रही है और लिस्ट का इन्तजार कर रही है| पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल की गोविंदपुरा सीट और सरताज सिंह की सिवनी मालवा सीट को लेकर घमासान मचा हुआ है| इस बीच सरताज सिंह के कांग्रेस की टिकट पर चुनाव लड़ने की चर्चा तेज हो गई है, सरताज को कांग्रेस का ऑफर मिला है| सरताज ने खुद कहा है कि वह सिवनी मालवा से चुनाव नहीं लड़ेंगे, लेकिन किसी और सीट से चुनाव लड़ने की संभावनाओं से भी इंकार नहीं किया जा सकता है| बताया जा रहा है कि होशंगाबाद इटारसी विधानसभा क्षेत्र से सरताज चुनाव लड़ सकते हैं| 


कांग्रेस प्रत्याशी हो सकते हैं सरताज 

बीजेपी से नाराज सरताज सिंह कांग्रेस का दामन थाम सकते हैं| बीजेपी की तीसरी सूची का इन्तजार किया जा रहा है| पार्टी उन्हें टिकट कटने के संकेत पहले ही दे चुकी है, वहीं सरताज ने भी पार्टी को दो टूक जवाब दिया है| इसको लेकर सियासी पारा चढ़ा हुआ है| इस बीच कांग्रेस भी इस मौके का फायदा उठाने की कोशिश में है, ख़बरों की माने तो सरताज होशंगाबाद इटारसी विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेस के प्रत्याशी हो सकते हैं|  प्रदेश कांग्रेस चुनाव अभियान समिति के अध्यक्ष ज्योतिरादित्य सिंधिंया इसको लेकर हरी झंडी दे चुके हैं।   सिवनी मालवा से पूर्व मंत्री और बुजुर्ग नेता हजारीलाल रघुवंशी के बेटे ओमप्रकाश रघुवंशी को कांग्रेस टिकट देने का एलान कर चुकी है, जिसके चलते अगर सरताज कांग्रेस का दामन थामते हैं, तो सरताज के समक्ष होशंगाबाद सीट का विकल्प है।  इसलिए कयास लगाए जा रहे हैं वह इस सीट से कांग्रेस के प्रत्याशी हो सकते हैं|  सरताज का कहना है पार्टी ने उन्हें मना कर दिया है, अब वह सिवनी मालवा से चुनाव नहीं लड़ेंगे|  अन्य सीट पर चुनाव लड़ने का फैसला कार्यकर्ताओं से बातचीत के बाद करेंगे|