MP: पल भर में ऐसे बदली एक मजदूर की किस्मत, मिला 12.58 कैरेट का बेशकीमती हीरा

पन्ना| कब किसकी किस्मत क्या कर दिखाए यह कोई नहीं जानता, लेकिन जब नसीब चमकता है तो सबकों हैरान कर देता है| कुछ ऐसा ही हुआ है मध्य प्रदेश में एक मजदूर के साथ| देश भर में हीरे की खदान के लिए विख्यात पन्ना जिले में एक मजदूर की किस्मत खुल गई है| उसे खुदाई में एक बेशकीमती हीरा मिला है| हीरे की अनुमानित कीमत हीरा पारखी द्वारा 30 से 35 लाख रुपए आंकी जा रही है| मजदूर ने इसे हीरा कार्यालय में जमा कराया है |  इस हीरे को अगले माह होने वाली खुली नीलामी में बिक्री के लिये रखा जायेगा| 

पन्ना शहर के निकट स्थित ग्राम जनकपुर निवासी 60 वर्षीय कृषक प्रकाश शर्मा ने सरकोहां के निजी क्षेत्र की जमीन में हीरा खदान लगाने के लिए पट्टा लिया था। जून माह में उसे हीरा खदान लगाने के लिए 8 मीटर लंबाई चौड़ाई में खदान लगाने के लिए पट्टा भी जारी हुआ था।  खदान में काम करने के दौरान उसे यह हीरा मिला जिसे देखकर वो अपनी आँखों पर भरोसा नहीं कर पाया| मजदूर को मिले हीरे का वजन 12 कैरेट 58 सेंट निकला। यह बेशकीमती हीरा मिलने से जहां एक ओर गरीब मजदूर का परिवार खुशी से झूम उठा है। वहीं दूसरी ओर हीरा कार्यालय में भी खुशी का माहौल रहा। प्रकाश शर्मा ने हीरा मिलने के बाद महेन्द्र भवन स्थित हीरा कार्यालय में जमा कराया है। हीरा अधिकारी सन्तोष सिंह ने बताया कि उज्जवल किस्म के इस हीरे की अनुमानित कीमत हीरा पारखी द्वारा 30 से 35 लाख आंकी गई है|   कुछ जानकारों का तो यह कहना है कि इस हीरे की कीमत नीलामी में 50 लाख तक पहुँच सकती है। मालुम हो कि खुली नीलामी में यह हीरा जितने में बिकेगा,उस राशि से शासन की रॉयल्टी काटने के बाद शेष राशि हीरा धारक कृषक प्रकाश शर्मा को प्रदान की जायेगी।

उल्लेखनीय है कि रत्नगर्भा पन्ना की धरती में बेशकीमती हीरे निकलते हैं। अपनी किस्मत आजमाने के लिये यहां दूर-दूर से लोग खदान लगाने के लिये आते हैं। लेकिन ज्यादातर हीरा धारित क्षेत्र वन भूमि में होने के कारण वैधानिक रूप से वहां हीरा खदान के लिये पट्टे नहीं दिये जा सकते। ऐसी स्थिति में मौजूदा समय अधिकांश हीरा की खदानें निजी कृषि भूमि पर चल रही हैं।