VIDEO: जब हाईवे पर आ गई बंदरों की टोली, 'मंत्री' ने भी दी शानदार 'केला पार्टी'

रायसेन| कंप्यूटर की तरह अपना दिमाग चलाने वाले प्रदेश के सबसे चर्चित संतों में से एक कंप्यूटर बाबा का बंदर प्रेम सामने आया है| राज्यमंत्री का दर्जा पाने के बाद प्रदेश भर में भ्रमण कर रहे महामंडलेश्वर  कंप्यूटर बाबा के वाहन का जब बंदरों की टोली ने रास्ता रोक लिया तो बाबा ने दर्जनों केले खिलाकर बंदरों की खिदमत की| इस दौरान बंदर भी मजे से बाबा के हाथ से केले खाते नजर आये| 

दरअसल, रायसेन जिले में NH 15 सिलवानी से सागर जाते समय सैकड़ों बंदरों की टोली ने महामंडलेश्वर कम्प्यूटर बाबा के वाहन को घेर लिया| बंदरों को देख बाबा भी कार से उतरे और 20 किलोमीटर दूर से बंदरों के लिए केले बुला कर खिलाये और फिर रवाना हुए|  अब तक बाबा धार्मिक, आध्यात्मिक और राजनीतिक कारणों से चर्चा में रहते थे, अब उनके बंदरों के प्रति प्रेम की भी खासा चर्चा हो रही है| 

बता दें कि मध्यप्रदेश सरकार ने पांच संतों को राज्यमंत्री का दर्जा दिया है। दर्जा पाए संतों में सबसे ज्यादा चर्चा 'कम्प्यूटर बाबा' की रहती है। उनके नाम को लेकर भी हमेसा चर्चा रहती है, क्यूंकि किसी बाबा या संत का नाम कंप्यूटर कैसे हो सकता है| बता दें कि लंबी दाढ़ी, लंबे बाल रखने वाले 54 वर्षीय कम्प्यूटर बाबा का असली नाम नामदेव दास त्यागी है और वह इंदौर के रहने वाले हैं। अपने साथ हमेशा लैपटॉप रखने वाले नामदेव को लोग उन्हें  इस वजह से कम्प्यूटर बाबा के नाम से पुकारने लगे। आम बाबाओं से अलग वह अपने भक्तों से फेसबुक पर चैटिंग भी करते हैं।