बीईओ ने कमरे में बाहर से ताला लगाकर अंदर दिलवाई रिश्तेदार-बेटे को परीक्षा, मचा हड़कंप

सागर। 

बीते दिनों शिवपुरी के करैरा से विधायक शकुंतला खटीक के बेटे का सरेआम नकल करते हुए वीडियो वायरल हुआ था। अभी ये मामला थमा ही था कि अब बीईओ द्वारा अपने बेटे और रिश्तेदार को बंद कमरे में खुलेआम नकल करवाने का मामला सामने आया है। मामले के सामने आते ही कांग्रेस ने बीईओ को निलंबित करने की मांग की है। फिलहाल पुलिस ने दोनों परिक्षार्थियों को हिरासत में ले लिया है, मामले की जांच की जा रही है। घटना के बाद से ही बीईओ गायब है।

जानकारी के अनुसार, राष्ट्रीय मुक्त विद्यालयी शिक्षा संस्थान द्वारा आयोजित डीएलएड की परीक्षा में तहसीलदार सीजी गोस्वामी को मोबाईल पर सूचना मिली थी कि ताले बन्द कमरे में दो वीवीआईपी परीक्षाथियों को परीक्षा दिलाई जा रही है । सुचना के बाद तहसीलदार ने विद्यालय जाकर देखा को वह कमरा बन्द है बाहर से ताला लगा हुआ है ।बन्द कमरे की खोलने को कहा गया तो केन्द्र प्रभारी और बीईओ आरपी उपाध्याय का कहना था कि यह स्टोर रूम है। इसकी चाबी हमारे पास नही है, जिसके पास चाबी है वह सागर में रहते है। इसके बाद शक के चलते तहसीलदार ने ताले लगे कमरे को सील कर दिया और बाहर से स्वंय का ताला लगा दिया।इसके बाद तहसीलदार के जाते ही ताले को तोडा गया औऱ दोनों को बाहर निकाल दिया गया।तहसीलदार को जबकी इसकी भनक लगी तो उन्होंने जांच की तो दो युवक पास में बने बाथरूम में पाए गये।उन्होंने अपना नाम चंचल पिता आरपी उपाध्याय एवं भास्कर पिता सूर्यप्रकाश मुखरैया निवासी सागर बताया। इसके बाद तहसीलदार ने दोनों के बयान दर्ज किए और हिरासत में ले लिया। फिलहाल मामले की जांच की जा रही है।

बताया जा रहा है कि दोनों परिक्षार्थी में एक ब्लॉक एजुकेशन ऑफिसर (बीइओ) का बेटा और दूसरा रिश्तेदार है। ताले तोड़े जाने के बाद से ही बीईओ गायब है।वही दूसरी तरफ कांग्रेस ने इस मामले में तहसीलदार को ज्ञापन सौंपकर बीइओ को निलंबित करने की मांग की है। ज्ञापन में कहा गया है कि आरपी उपाध्याय द्वारा पहले भी इस प्रकार की मनमानी की गई है। इसलिए उसे तत्काल निलंबित किया जाए।