Narmadapuram News: सतपुड़ा टाइगर रिजर्व के मढ़ई में विक्रम हाथी की मौत, कई दिनों से चल रहा था बीमार

बताया जा रहा है कि विक्रम पिछले कई दिनों से बीमार चल रहा था। जिसका शव आज मढ़ई क्षेत्र में मिला है। सूचना मिलते ही वन विभाग के अधिकारी वहां पहुंच गए हैं।

Narmadapuram News : मध्य प्रदेश के नर्मदापुरम जिले में सतपुड़ा टाइगर रिजर्व के मढ़ई में सबसे छोटे हाथी विक्रम की मौत हो गई है। जिससे पूरे परिसर में दुख का माहौल है। बताया जा रहा है कि विक्रम पिछले कई दिनों से बीमार चल रहा था। जिसका शव आज मढ़ई क्षेत्र में मिला है। सूचना मिलते ही वन विभाग के अधिकारी वहां पहुंच गए हैं। फिलहाल, एसटीआर के अधिकारियों ने अभी तक सबसे छोटे हाथी की मौत के कारणों का खुलासा नहीं किया है।

लाडला हाथी था विक्रम

बता दें कि सतपुड़ा टाइगर रिजर्व आने वाले पर्यटक सबसे छोटे हाथी विक्रम को बहुत पसंद करते थे। इसे केवल भारतीय पर्यटक ही नहीं, बल्कि विदेशी पर्यटक भी पसंद करते थे। यह पार्क का सबसे लाडला हाथी था। विक्रम हाथी को पिछले साल उसकी मां प्रिया, पिता सिद्धनाथ और उसकी बहन लक्ष्मी के साथ मढ़ई लाया गया था। वर्तमान में विक्रम हाथी की उम्र 6 वर्ष थी।

जांच जारी

इधर, एसटीआर (STR) की टीम द्वारा आगे की कार्रवाई की जा रही है। साथ ही विक्रम की मौत कैसे हुई इस जांच-पड़ताल की जा रही है। बता दें कि सतपुड़ा टाइगर रिजर्व में हाथियों के अलावा तेंदुआ, भालू, सांभर, चीतल, नीलगाय, आदि कई वन्यजीव पाए जाते हैं। केवल इतना ही नहीं, यहां हाथी सफारी का आयोजन भी किया जाता है। यह लगभग 1,427 वर्ग किलोमीटर के क्षेत्रफल में फैला हुआ है।

नर्मदापुरम से राहुल अग्रवाल की रिपोर्ट


About Author
Sanjucta Pandit

Sanjucta Pandit

मैं संयुक्ता पंडित वर्ष 2022 से MP Breaking में बतौर सीनियर कंटेंट राइटर काम कर रही हूँ। डिप्लोमा इन मास कम्युनिकेशन और बीए की पढ़ाई करने के बाद से ही मुझे पत्रकार बनना था। जिसके लिए मैं लगातार मध्य प्रदेश की ऑनलाइन वेब साइट्स लाइव इंडिया, VIP News Channel, Khabar Bharat में काम किया है।पत्रकारिता लोकतंत्र का अघोषित चौथा स्तंभ माना जाता है। जिसका मुख्य काम है लोगों की बात को सरकार तक पहुंचाना। इसलिए मैं पिछले 5 सालों से इस क्षेत्र में कार्य कर रही हुं।

Other Latest News