चमकी बुखार पर पहली बार बोले प्रधानमंत्री, आधुनिक युग में ऐसी स्थिति को बताया शर्मनाक

Prime-Minister-spoke-first-time-on-a-chamki-fever

नई दिल्ली।

बिहार में चमकी बुखार से हो रही बच्चों की मौत पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज पहली बार प्रतिक्रिया व्यक्त की है। मोदी ने संसद के उच्च सदन राज्यसभा में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के अभिभाषण को लेकर धन्यवाद प्रस्ताव पर बोलते हुए चमकी बुखार पर बोले कि ”पिछले दिनों बिहार में चमकी बुखार की चर्चा हुई है। आधुनिक युग में ऐसी स्थिति हम सभी के लिए दु:खद और शर्मिंदगी की बात है। इस दु:खद स्थिति में हम राज्य के साथ मिलकर मदद पहुंचा रहे हैं। ऐसी संकट की घड़ी में हमें मिलकर लोगों को बचाना होगा।” प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि चमकी बुखार से हो रही मौत हमारे लिए दुख की बात है और इसको लेकर मैं लगातार बिहार सरकार से संपर्क में हूं।

अब तक हो चूँकि सैकड़ों मौतें  

आपको बता दें कि बिहार में चमकी बुखार की वजह से अब तक 150 से अधिक बच्चों की मौत हो चुकी है। एक्यूट इंसेफेलाइटिस सिंड्रोम (चमकी बुखार) से बच्चो की होने से बिहार की बेहाल स्वास्थ्य व्यवस्था की पोल खुल गई है। बिहार में बड़ी संख्या में डॉक्टरों एवं दवाई की कमी बात सामने आई है।

नीतीश अब तक मौन 

लम्बे अंतराल के बाद प्रधानमंत्री ने तो प्रतिक्रिया व्यक्त कर दी है लेकिन बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार बच्चों की मौत हो जाने पर भी अब तक खामोश हैं। बच्चों की मौत पर विपक्ष लगातार सूबे के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के चुप्पी पर सवाल उठा रहा है। हालांकि बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे ने चमकी बुखार के लिए नियति को जिम्मेदार ठहरा चुके हैं। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here