By-Election: कांग्रेस में शेष बचे प्रत्याशियों पर मंथन जारी, जल्द हो सकता है नाम का ऐलान

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्‍य प्रदेश (Madhypradesh) में 27 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव (By-election) होने है। जहाँ पार्टियों की जमीनी स्टार पर अपन कार्य शुरू कर दिए हैं हलाकि अभी तक तारीखों की घोषणा नहीं हुई है। फिर भी पार्टी ने प्रत्याशियों के नाम से परदे हटाना शुरू कर दिया है। भाजपा(BJP) में आए 25 सीटों पर उम्मीदवार लगभग तय है और 2 सीटों पर मंथन जारी है। जिसपर चर्चा है की पितृपक्ष के बाद बीजेपी प्रत्याशियों के नाम का ऐलान करेगी। इसी कड़ी में कांग्रेस(Congress) ने अपने प्रत्याशियों की पहली लिस्ट जारी कर दी है। इधर बसपा(BSP) ने भी 27 में से 8 सीटों पर अपने उम्मीदवारों की लिस्ट जारी कर दी है।

दरअसल कांग्रेस ने पहली लिस्ट जारी कर दी है। जिनमें 15 प्रत्याशियों की घोषणा हो चुकी है। वहीँ शेष 12 क्षेत्रों के लिए खींचतान जारी है। हालांकि कांग्रेस के पहले लिस्ट के कुछ नामों से भी कांग्रेस के कार्यकर्ताओं एवं नेताओं में असंतोष है। जिसका वो खुलकर विरोध भी कर रहे हैं। चर्चाओं का बाजार ये भी गर्म है कि प्रत्याशियों की दूसरी सूची प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ(Kamalnath) के 18-19 सितंबर को ग्वालियर(Gwalior) दौरे के बाद आ सकते है। वहीँ पार्टी के सामने बड़ी समस्या बची हुई सीटों जैसे मुरैना, ग्वालियर, मुंगावली, मांधाता जैसे क्षेत्रों से प्रत्याशियों के नाम तय करना है। इधर कांग्रेस कि माने तो शेष बची हुई विधानसभा सीटों के सर्वे के कार्य पुरे किये जा चुके हैं। विचार-विमर्श का कार्य चल रहा है। जल्द ही बची हुई सीटों पर हाईकमान की सहमति के बाद प्रत्याशियों के नाम का ऐलान कर दिया जाएगा।

वहीँ ग्वालियर पूर्व सीट को लेकर खींचतान जारी है। यहां मुख्य रूप से सतीश सिकरवार(Satish sikarwar), राकेश चौहान(Rakesh chauhan), और ज्योतिरादित्य सिंधिया(Jyotiraditya scindia) के समर्थक रहे देवेंद्र शर्मा की दावेदारी बताई जा रही है। सतीश सिकरवार को कांग्रेस ने हाल ही में पार्टी की सदस्यता दिलाई है। दूसरी तरफ चर्चा ये भी तेज है कि कांग्रेस जो दूसरी सूची लाएगी, उसमें भी बाहरी नेताओं को मौका दिया जाएगा। इनमें सुमावली से बहुजन समाज पार्टी से आए अजय सिंह कुशवाह या बलवीर सिंह डंडौतिया में से किसी एक को टिकट मिल सकता है।

बता दें कि पहली सूची में कांग्रेस ने उपचुनाव के लिए राज्यसभा उम्मीदवार रहे फूल सिंह बरैया(Phool singh baraiya) के साथ-साथ हाल ही में भाजपा छोड़ कांग्रेस में शामिल हुए प्रेमचंद गुड्डू(Premchand Guddu) को भी जगह दी गई है। कांग्रेस द्वारा जाति समीकरणों पर जोर दिया गया है। ऐसे में अब एमपी की 27 सीटों पर ही कड़ी टक्कर देखने को मिलेगी। वहीँ एक ओर जहां बीजेपी के पुराने कार्यकर्ता अभी भी सिंधिया और उनके समर्थकों स्वीकार नहीं कर पाए है वहीं दूसरी कांग्रेस में लगातार विधायकों और कार्यकर्ताओं का पलायन लगातार जारी है। ऐसे में दोनों ही पार्टियों के सामने अपने विधायकों और कार्यकर्ताओं को साधना बड़ी चुनौती बनी हुई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here