संघ प्रमुख “भागवत” पर ‘दिग्विजय’ ने दागे सवाल, कहा- घोटाले की गुप्त रिपोर्ट जरूर लें

भोपाल।

मध्यप्रदेश में होने वाले आगामी उपचुनाव और कोरोना संकटकाल के बीच संघ के कोर कमेटी के सदस्य के साथ बैठक करने एवं उनकी कार्यशैली का आकलन करने के लिए राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत सोमवार की रात भोपाल पहुंचे। भागवत भोपाल में संघ के कोर कमेटी के सदस्यों के साथ जहां चर्चा करेंगे। वही उनके कार्य शैली का आकलन भी करेंगे। इसी बीच संघ प्रमुख भागवत को लेकर कांग्रेस के दिग्गज नेता और राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह के एक ट्वीट ने बड़ा खेल खेला है। कांग्रेस नेता सिंह के इस ट्वीट में उन्होंने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान सहित उनके मंत्रियों को आड़े हाथ लिया है। इसके साथ ही साथ उन्होंने सरसंघचालक भागवत पर भी अप्रत्यक्ष टिप्पणी की है।

दरअसल कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने मंगलवार को ट्वीट कर भोपाल में मोहन भागवत का स्वागत किया है। राज्यसभा सांसद ने ट्वीट में कहा है कि मोहन भागवत बीजेपी मुख्यमंत्री और मंत्रीगण के भ्रष्टाचार के विषय में संघ के स्वयंसेवकों से गुप्त रिपोर्ट अवश्य ले। इसके साथ ही दिग्विजय सिंह ने कहा कि शिवराज सिंह चौहान के परिवारजन अवैध रेत खनन में शामिल है। जिसकी जानकारी मोहन भागवत को लेनी चाहिए।

विधायक खरीद फरोख्त पर उठाये सवाल

एक के बाद एक ट्वीट करते हुए दिग्विजय सिंह ने प्रदेश की बीजेपी सरकार पर जमकर निशाना साधा है। दिग्विजय सिंह ने कहा कि विधायकों की खरीद-फरोख्त पर भी मोहन भागवत को अपने स्वयंसेवकों से जानकारी लेनी चाहिए और साथ ही प्रजातंत्र व्यवस्था में विधायकों के आचरण पर वह क्या सोचते हैं वह भी स्पष्ट करना चाहिए।

राम मंदिर के शिलान्यास तिथि पर पूछी ये बात

वही राम मंदिर के शिलान्यास की तिथि पर सवाल उठाते हुए दिग्विजय सिंह ने कहा कि आखिर किसी भी प्रमाणित शंकराचार्य एवं रामानंद संप्रदाय के धर्मगुरु को नया संस्थान क्यों नहीं दिया गया। शिलान्यास की तिथि प्रधानमंत्री मोदी की सहूलियत के हिसाब से तय करना शुभ मुहूर्त है। स्वागत करते हुए दिग्विजय सिंह ने यह तीखे सवाल मोहन भागवत से किए हैं। इसके बाद स्पष्ट तौर पर बीजेपी दिग्विजय सिंह के इस बयान पर पलटवार करेगी।

बता दें कि इससे पहले मध्य प्रदेश के सहकारी मंत्री अरविंद भदौरिया ने दिग्विजय सिंह को लेकर अमर्यादित व्यान दिया था। अरविंद भदौरिया का वो वीडियो सोशल मीडिया पर काफी वायरल हुआ था जहां वह पूर्व मुख्यमंत्री और राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह एवं उनके बेटे को लेकर अशोभनीय भाषा का प्रयोग करते दिखाई दे रहे थे। भदोरिया ने दिग्विजय सिंह पर सरेआम इल्जाम लगाते हुए कहा था कि जब वह कांग्रेस विधायक के साथ बेंगलुरु में ठहरे थे तब दिग्विजय सिंह, जयवर्धन सिंह और जीतू पटवारी के के साथ होटल में आकर गुंडागर्दी कर रहे थे। इसके साथ ही भदोरिया ने दिग्विजय सिंह और जीतू पटवारी के लिए भी अपशब्दों का प्रयोग किया था। अब इसके बाद सरसंघचालक मोहन भागवत से पूछे गए इस तीखे प्रश्न पर बीजेपी की तरफ से पलटवार आता है या नहीं। यह देखना दिलचस्प रहेगा।