भोपाल में सहायक संचालक 25 हजार की रिश्वत लेते ट्रैप, लोकायुक्त ने सरकारी गाड़ी से उतारकर पकड़ा

आरोपी ने पूर्व में एक दो लाख रुपए की मांग की थी| बाद में चर्चा के दौरान आरोपी ने स्कॉलरशिप की राशि पांच हजार डॉलर बढ़ाकर चार हजार डॉलर स्वयं रखने तथा एक हजार डॉलर शिकायत कर्ता के पुत्र को देने पर सहमति जताई और 25000 रुपये लाकर देने का कहा| शिकायत कर्ता ने पुलिस अधीक्षक लोकायुक्त भोपाल को इस संबंध में 27 जनवरी को शिकायत की थी

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट| राजधानी भोपाल (Bhopal) में गुरूवार को लोकायुक्त पुलिस (Lokayukt Police) ने बड़ी कार्रवाई की है| टीम ने पिछड़ा वर्ग एवं अल्प संख्यक कल्याण विभाग के सहायक संचालक एचबी सिंह को 25 हजार रुपए की रिश्वत (Bribe) लेते पकड़ा है। अधिकारी रिश्वत के रुपए अपनी पेंट की जेब में रखकर कर कार से निकलने की तैयारी में था, तभी लोकायुक्त की टीम ने अधिकारी को सतपुड़ा भवन के गेट पर ही पकड़ लिया

लोकायुक्त पुलिस के मुताबिक, धार जिले के वल्लभ पाटीदार नामक किसान की शिकायत पर एच बी सिंह सहायक संचालक पिछड़ा वर्ग एवं अल्प संख्यक कल्याण सतपुड़ा भवन भोपाल को 25 हजार की रिश्वत लेते गिरफ्तार किया है| शिकायतकर्ता के पुत्र हेमंत पाटीदार की स्वीकृत ओवरसीज स्कॉलरशिप एरिजोना यूनिवर्सिटी फिनिक्स सिटी यूएसए के भुगतान और पांच हजार डॉलर वृद्धि करने के एवज में यह रिश्वत ली गई थी| टीम ने अधिकारी को सतपुड़ा भवन के मुख्यद्वार पर रंगेहाथ पकड़ लिया|

आरोपी ने पूर्व में एक दो लाख रुपए की मांग की थी| बाद में चर्चा के दौरान आरोपी ने स्कॉलरशिप की राशि पांच हजार डॉलर बढ़ाकर चार हजार डॉलर स्वयं रखने तथा एक हजार डॉलर शिकायत कर्ता के पुत्र को देने पर सहमति जताई और 25000 रुपये लाकर देने का कहा| शिकायत कर्ता ने पुलिस अधीक्षक लोकायुक्त भोपाल को इस संबंध में 27 जनवरी को शिकायत की थी| शिकायत की तस्दीक के बाद लोकयुक्त की टीम ने आज अधिकारी को 25 हजार की रिश्वत लेते रंगेहाथ पकड़ लिया| आरोपी ने रिश्वत के रुपये प्राप्त कर अपने पेंट के पीछे की जेब में रख लिये थे और अपने शासकीय आल्टो कार से घर जाने की तैयारी की, तभी लोकायुक्त पुलिस ने आरोपी को दबोच लिया।