160 रनों से हासिल की भारत ने नीदरलैंड पर जीत, विश्वकप 2023 में टीम की लगातार 9 वी जीत, श्रेयस, राहुल ने जड़े शतक

india netherand match

World Cup 2023 India Vs Netherlands: भारतीय क्रिकेट टीम ने नीदरलैंड को हरा विश्व कप में 2023 में अपनी जीत का परचम बरकरार रखा है। श्रेया और राहुल की धमाकेदार बल्लेबाजी से भारत ने यह मैच 160 रनों से जीत लिया है। 94 गेंदों में शानदार 128 रनों की नाबाद पारी के लिए श्रेयस अय्यर को प्लेयर ऑफ द मैच के खिताब से नवाज़ा गया।

बैंगलोर के चिन्नास्वामी स्टेडियम में खेले गए इस मैच में भारतीय टीम ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला लिया। भारतीय टीम की ओर से बल्लेबाजी करने उतरे रोहित शर्मा और शुभमन गिल ने आते ही ताबड़तोड़ बल्लेबाजी शुरू कर भारत को एक बेहतर शुरुआत दी। इसके बाद नीदरलैंड के गेंदबाज मेकरीन ने शुभमन गिल को 51 रनों पर आउट किया। इसके बाद रोहित शर्मा और विराट कोहली भी 61 और 51 रनों की पारी खेल पैवेलियन वापस लौट गए।

श्रेयस और राहुल ने जड़े शतक 

विराट और रोहित के आउट होने के बाद श्रेयस अय्यर और केएल राहुल ने नीदरलैंड की गेंदबाजी की पूरी तरह कमर तोड कर रख दी। दोनों ने इस मैच में शतकीय परियां खेलीं। श्रेयस ने अपनी पारी में 128 रन और राहुल ने 102 रन बनाए। भारत ने नीदरलैंड के सामने 50 ओवरों में चार विकेट के नुकसान पर 410 रन का लक्ष्य रखा।

कोहली रोहित ने झटके एक एक विकेट 

भारतीय गेंदबाजों ने नीदरलैंड की पूरी टीम को ढाई सौ रन पर धराशाई कर दिया। भारत की ओर से कुलदीप यादव रवींद्र जडेजा मोहम्मद सिराज और जसप्रीत बुमराह ने दो-दो विकेट लिए। इतना ही नहीं गेंदबाजी में अपना हाथ आजमाते हुए कप्तान रोहित शर्मा और विराट कोहली ने भी एक-एक विकेट झटका। नीदरलैंड की ओर से सर्वाधिक रन निदा मनुरू ने बनाए। अब भारत न्यूजीलैंड के साथ 15 नवंबर को सेमी फाइनल मैच खेलेगा।


About Author
Gaurav Sharma

Gaurav Sharma

पत्रकारिता पेशा नहीं ज़िम्मेदारी है और जब बात ज़िम्मेदारी की होती है तब ईमानदारी और जवाबदारी से दूरी बनाना असंभव हो जाता है। एक पत्रकार की जवाबदारी समाज के लिए उतनी ही आवश्यक होती है जितनी परिवार के लिए क्यूंकि समाज का हर वर्ग हर शख्स पत्रकार पर आंख बंद कर उस तरह ही भरोसा करता है जितना एक परिवार का सदस्य करता है। पत्रकारिता मनुष्य को समाज के हर परिवेश हर घटनाक्रम से अवगत कराती है, यह इतनी व्यापक है कि जीवन का कोई भी पक्ष इससे अछूता नहीं है। यह समाज की विकृतियों का पर्दाफाश कर उन्हे नष्ट करने में हर वर्ग की मदद करती है। इसलिए पं. कमलापति त्रिपाठी ने लिखा है कि," ज्ञान और विज्ञान, दर्शन और साहित्य, कला और कारीगरी, राजनीति और अर्थनीति, समाजशास्त्र और इतिहास, संघर्ष तथा क्रांति, उत्थान और पतन, निर्माण और विनाश, प्रगति और दुर्गति के छोटे-बड़े प्रवाहों को प्रतिबिंबित करने में पत्रकारिता के समान दूसरा कौन सफल हो सकता है।

Other Latest News