नरोत्तम का दिग्विजय पर Tweet War- मुहूर्त देख बताएं “कौन होगा अगला नेता जो छोड़ेगा कांग्रेस”

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट 

मध्यप्रदेश(Madhya Pradesh) में एक तरफ जहां कांग्रेसियों(Congressmen) में राम भक्त बनने की होड़ लग गई है वहीं दूसरी तरफ बीजेपी(BJP) इसे कांग्रेस(congress) का हिंदू कार्ड(Hindu Card) बता रही है। प्रदेश की हवा में आजकल राम नाम की गूंज है। 5 अगस्त को अयोध्या में होने वाले राम मंदिर भूमि पूजन(Ram temple bhoomi pujan) से पहले एक तरफ जहां प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ(Former Chief Minister Kamal Nath) राम में अपनी आस्था जताते हुए वीडियो(video) जारी कर चुके हैं। वहीं दिग्विजय सिंह(Digvijay Singh) ने भी राम मंदिर के समर्थन की बात कही है। हालांकि दिग्विजय सिंह द्वारा लगातार यह सवाल उठाए जा रहे हैं कि अशुभ मुहूर्त में राम जन्मभूमि का भूमि पूजन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी(Prime Minister Narendra Modi) की सुविधा को देखते हुए किया जा रहा है। जिस पर अब प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा(Home Minister Narottam Mishra) ने पलटवार किया है। नरोत्तम मिश्रा ने दिग्विजय सिंह पर तंज कसते हुए कहा है कि ज्योतिषाचार्य दिग्विजय सिंह को कुछ शुभ मुहूर्त अपनी पार्टी के लिए भी निकालने चाहिए और बताना चाहिए कि अगला वह नेता कौन होगा जो हताश होकर कांग्रेस पार्टी को छोड़ेगा।

दरअसल सोमवार को ट्वीट करते हुए प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि दिग्विजय सिंह करोड़ों राम भक्तों की आस्था से खेल रहे हैं। राम मंदिर पर शुभ मुहूर्त का आकलन करने से बेहतर सुझाव यह है कि दिग्विजय सिंह अपनी पार्टी के लिए कुछ शुभ मुहूर्त निकलवाए। नरोत्तम मिश्रा ने राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह को सुझाव देते हुए कहा कि उन्हें शुभ मुहूर्त निकालना चाहिए की कांग्रेस में अगला कौन सा नेता ऐसा होगा जो कांग्रेस की पार्टी छोड़कर जाएगा।वही पार्टी का अगला अध्यक्ष कौन होगा। इसके लिए भी दिग्विजय सिंह को शुभ मुहूर्त निकालना चाहिए। इसके साथ ही मिश्रा ने कहा कि वह खुद किस मुहूर्त में पार्टी छोड़ेंगे, दिग्विजय सिंह को यह भी बताना चाहिए।

बता दें कि राम जन्मभूमि अयोध्या में भूमि पूजन के लिए 5 अगस्त का दिन निर्धारित किया गया है। जहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हाथों भूमि पूजन किया जाएगा। दिग्विजय सिंह लगातार इस मुद्दे पर सवाल उठा रहे हैं। एक तरफ जहां उन्होंने अशुभ मुहूर्त में भूमि पूजन की बात कही है वहीं दूसरी तरफ उन्होंने अपनी बात को सिद्ध करने के लिए यह भी कहा कि शुभ मुहूर्त में मंदिर के भूमि पूजन के कारण बीजेपी के आधे से अधिक नेता कोरोना की चपेट में आ गए हैं। ऐसे में प्रधानमंत्री मोदी को अभी मंदिर भूमि पूजन कर निर्णय त्याग देना चाहिए। जिसके बाद से प्रदेश में राजनीति गरमा गई है। वहीं इस मुद्दे पर पवैया भी दिग्विजय को घेर चुके हैं।