पांच जिला चिकित्सालयों में लगेंगे ऑक्सीजन प्लांट, मध्यप्रदेश बना पहला राज्य

इस नवीनतम तकनीक से ऑक्सीजन प्लांट्स लगाने वाला मध्यप्रदेश, देश का पहला राज्य है।

सीएम शिवराज सिंह चौहान

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट।  ऑक्सीजन की कमी की हाहाकार के बीच मध्यप्रदेश की लिए खुशखबरी है।  मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने घोषणा की है कि प्रदेश के 5 जिला चिकित्सालयों भोपाल, रीवा, इंदौर, ग्वालियर और शहडोल में नवीनतम VPSA तकनीक आधारित ऑक्सीजन प्लांट्स 1 करोड़ 60 लाख रुपये की लागत से लगाये जा रहे हैं।  उन्होंने बताया कि इस नवीनतम तकनीक से ऑक्सीजन प्लांट्स लगाने वाला मध्यप्रदेश, देश का पहला राज्य है।

कोरोना की दूसरी लहर मध्यप्रदेश में भी तांडव मचा रही है स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकारी के अनुसार, मप्र में बुधवार को 50,974 सैंपल की जांच में 12,384 नए मरीज सामने आए और 75 की मौत हो गई। इससे पहले मंगलवार को प्रदेश में 13,107 मरीज मिले थे और 76 की मौत हुई थी। वर्तमान में एक्टिव केसों की संख्या 84957 पिछले 4 दिन से प्रदेश में कोरोना की संक्रमण दर 24 से 26 फीसद के बीच बनी हुई है।

ये भी पढ़ें – कोरोना आपदा में विधायक की सराहनीय पहल, की 5 ऑक्सीजन टैंकर की व्यवस्था

वर्तमान में  इंदौर में 12 हजार, भोपाल में 9 हजार, ग्वालियर में 8 हजार और जबलपुर में 5 हजार के पार कोरोना पॉजिटिव सक्रिय है। वही रीवा, उज्जैन और विदिशा में 2 हजार से ज्यादा एक्टिव केस है। वही दो दर्जन जिलों में यह आंकड़ा 1 हजार के पार है। इन आंकड़ों के बाद मप्र अब तक कुल संक्रमितों की संख्या 4 लाख 59 हजार 195 पहुंच गई है, इसमें से 3 लाख 69 हजार 375 स्वस्थ हो चुके हैं और वर्तमान में 84957 एक्टिव केस है। काेरोना से अब तक 4863 मौतें हुई हैं।

ये भी पढ़ें –पिछले साल ट्रांसफर किये गए अधिकारियों कर्मचारियों को तत्काल रिलीव करें, आदेश जारी 

उधर ऑक्सीजन की कमी के चलते पिछले कुछ दिनों में हुई करीब आधा सैकड़ा मौतों ने विपक्ष को हमलावर कर रखा है , हालाँकि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान लगातार ऑक्सीजन की आपूर्ति में लगे हुए। सरकार का दावा है कि प्रदेश में ऑक्सीजन की कमीं नहीं आने दी जाएगी सरकार हर वो संभावित जगह से संपर्क में है जहाँ से ऑक्सीजन मंगाई जा सकती है इसी बीच मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने मध्यप्रदेश को बड़ी खुशखबरी दी है।

ये भी पढ़ें – इंदौर- मध्यप्रदेश का सबसे बड़ा कोविड केयर सेंटर शुरू, कलेक्टर ने कही ये बात

सरकार की तरफ से बताया गया है कि “कौंसिल ऑफ साइंटिफिक एंड इंइस्ट्रियल रिसर्च, भारत सरकार द्वारा अधिकृत संस्था के माध्यम से प्रदेश के 5 जिला चिकित्सालयों भोपाल, रीवा, इंदौर, ग्वालियर, शहडोल में नवीनतम VPSA तकनीक आधारित ऑक्सीजन प्लांट्स 1 करोड़ 60 लाख रुपये की लागत से लगाये जा रहे हैं।

इन ऑक्सीजन प्लांट्स में 300 से 400 लीटर प्रति मिनट ऑक्सीजन बनेगी जो कि लगभग 50 बेड्स के लिए पर्याप्त होगी। इस नवीनतम तकनीक से ऑक्सीजन प्लांट्स लगाने वाला मध्यप्रदेश, देश का पहला राज्य है।