सम्राट पृथ्वीराज के राज्य में बनते थे “श्री मुहम्मद साम” के सिक्के! जाने इतिहास से कैसे अलग है फिल्म की कहानी

सतीश चंद्र के इतिहास की किताब के मुताबिक इस समय काल के कुछ सिक्के भी पाए गए है, जिसमें एक तरफ "पृथ्वीराजदेव" और दूसरी तरफ "श्री मुहम्मद साम" का नाम है।

मनोरंजन, डेस्क रिपोर्ट। 3 जून को अक्षय कुमार और मानुषी चिल्लर की फिल्म सम्राट पृथ्वीराज (Samrat Prithviraj) रिलीज हुई। हालांकि फिल्म का पहला दिन इस साल की अन्य ब्लॉकबस्टर फिल्मों से बुरा रहा। फिल्म में अक्षय कुमार, सोनू सूद और संजय दत्त की एक्टिंग काफी कमाल की थी। लेकिन अब बात फिल्म की कहानी की करें तो कुछ लोगों का कहना है की इसमें दिखाए गए कई सीन इतिहास की किताबों से अलग है, जो फिल्म पर कई सवाल उठाते हैं। सम्राट पृथ्वीराज महान हिन्दू शासकों में से एक थे, जिनकी हार उन्ही के अपनों द्वारा दिए धोखे के कारण हुई। इतिहासकारों के मुताबिक 1191 में पहली तराइन का युद्ध (Battle of Terain) हुआ था, जिसमें ग़ज़नी के मुहम्मद को हार मिली।

यह भी पढ़े… भारत में Monkeypox की दस्तक! 5 साल की बच्ची में दिखे इस वायरस के लक्षण, जांच के लिए भेजे गए सैम्पल

जब तक पृथ्वीराज चौहान का शासन था, तब तक देश बाहरी हमलावरों से बचा रहा। हार के बाद करीब एक साल की तैयारी के बाद मुहम्मद फिर लौट और 1192 में दूसरा Battle of Terain हुआ, जिसमें कन्नौज के राजा ने मुहम्मद का साथ दिया। इस युद्ध को इतिहास का सबसे अनदेखा मोड़ माना जाता है, इस युद्ध में छल-कपट के कारण सम्राट पृथ्वीराज की हार होती है। इस युद्ध में कई भारतीय सैनिक मारे गए और पृथ्वीराज को भागना पड़ा। इतिहासकार के मुताबिक सरस्वती नदी के पास तुर्कियों ने उन्हें पकड़ लिया और सम्राट के कई किले पर कब्जा कर लिया। उसके बाद अजमेर पर भी तुर्की आक्रमणकारियों का राज हुआ।

सतीश चंद्र के इतिहास की किताब के मुताबिक इस समय काल के कुछ सिक्के भी पाए गए है, जिसमें एक तरफ “पृथ्वीराजदेव” और दूसरी तरफ “श्री मुहम्मद साम” का नाम है, जो यह साबित करता है की युद्ध के बाद भी पृथ्वीराज ने कुछ समय तक अजमेर पर राज किया। लेकिन मुहम्मद ग़ोरी के खिलाफ षड्यन्त्र करने के आरोप में उन्हें मार दिया गया। उनके बाद दिल्ली और उत्तर भारत में तोमर का राज्य स्थापित हुआ और 1206 में मुहम्मद गोरी की मौत हुई।

यह भी पढ़े… OnePlus भारत में ला रहा है सस्ता स्मार्टफोन, धांसू फीचर्स के साथ सिर्फ 15000 रु. होगी कीमत

फिल्म में हंसी, ठिठोली, इमोशन और हर भाव को काफी बेहतरीन अंदाज से पेश किया गया। पृथ्वीराज का किरदार अक्षय से बेहद अच्छे से निभाया। तो वहीं चंद्र बरदाई के किरदार ने लोगों का दिल जीत लिया, यह कह सकते है की इस किरदार को सोनू सूद से शायद ही कोई अच्छे से निभा सकता है। “सम्राट पृथ्वीराज” फिल्म में संयोगिता और सम्राट पृथ्वीराज चौहान की प्रेम कहानी को बखूबी दिखाया है। पूर्व मिस वर्ल्ड की खुबसूरती ने फिल्म में जान दी, उनकी एक्टिंग भी काफी कमाल की रही। फिल्म का लास्ट सीन आपकी आंखों में आंसू भर देगा।