इस दिवाली कर्मचारियों को सरकार का तोहफा, 31% DA सहित मिलेगा Arrears, इतनी बढ़कर आएगी सैलरी

7th pay commission: केंद्र सरकार (Modi government) के कर्मचारियों का डीए साल में दो बार बढ़ाया गया है।

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। केंद्र सरकार (Modi government) के 7th pay commission कर्मचारियों के लिए इस बार की दिवाली बड़ी होने वाली है। दिवाली से पहले केंद्रीय मंत्रिमंडल ने महंगाई भत्ते (DA) में 3 फीसदी की बढ़ोतरी कर कर्मचारियों को तोहफा दिया था। यह महंगाई भत्ता एक जुलाई से लागू कर दिया गया है। इससे पहले डीए 28 फीसदी की दर से बढ़ाया गया था। जुलाई 2021 से महंगाई भत्ते में बढ़ोतरी के साथ एरियर (arrears) भी मिलेगा। केंद्र सरकार के कर्मचारियों को 31 फीसदी डीए के साथ एरियर भी मिलेगा।

केंद्र सरकार के कर्मचारियों को बढ़े हुए डीए का लाभ अक्टूबर 2021 से मिलना शुरू हो जाएगा। उन्हें 31 फीसदी की दर से भुगतान किया जाएगा। केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर के मुताबिक एक जुलाई से 31 फीसदी महंगाई भत्ता लागू कर दिया गया है. जुलाई, अगस्त, सितंबर माह में 28 फीसदी की दर से पैसा मिला है। अब 31 फीसदी डीए और 3 महीने के एरियर के साथ अक्टूबर की सैलरी के साथ पैसा आएगा।

केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर के मुताबिक 31 फीसदी डीए और एरियर के भुगतान पर सरकारी खजाने पर 9488.74 करोड़ रुपये का भार पड़ेगा. जनवरी 2020 में महंगाई भत्ते में 4 फीसदी की बढ़ोतरी की गई थी। फिर जून 2020 में इसमें 3 फीसदी और जनवरी 2021 में 4 फीसदी की बढ़ोतरी हुई। हालांकि, कोरोना के चलते सरकार ने जनवरी 2020 से जून 2021 तक तीन महंगाई भत्तों की बढ़ोतरी पर रोक लगा दी थी। जुलाई में सरकार ने इसे एक साथ 28 फीसदी की दर से जारी किया। इसमें 11 फीसदी की बढ़ोतरी की गई है।

Read More: MP School: निकाली गई नोटशीट, 5 लाख छात्रों को मिलेगा लाभ, खाते में भेजी जाएगी राशि!

केंद्र सरकार के कर्मचारियों का डीए साल में दो बार बढ़ाया गया है। यदि किसी कर्मचारी का मूल वेतन 18,000 रुपये है, तो उसे वर्तमान में महंगाई भत्ते के रूप में 5,040 रुपये मिल रहे हैं। यह राशि मूल वेतन का 28 प्रतिशत है। डीए में 3 फीसदी की बढ़ोतरी के बाद कर्मचारी को 5,580 रुपये डीए के तौर पर मिलेगा. मूल वेतन में वृद्धि के साथ ही महंगाई भत्ते की कुल राशि में भी वृद्धि होगी। सालाना आधार पर देखें तो सैलरी में 6480 रुपये की बढ़ोतरी होगी।

सातवें वेतन आयोग के मैट्रिक्स के मुताबिक केंद्रीय कर्मचारियों के लेवल-1 की सैलरी रेंज 18,000 रुपये से लेकर 56,900 रुपये तक है। अब 18,000 रुपये के मूल वेतन पर कुल वार्षिक महंगाई भत्ता 66,960 रुपये होगा। लेकिन अंतर की बात करें तो वेतन में सालाना बढ़ोतरी 30,240 रुपये होगी।

Read More: नरोत्तम का कमलनाथ को जबाब, हम 17 साल से सरकार मे, यही हमारा हिसाब

न्यूनतम मूल वेतन पर गणना

कर्मचारी का मूल वेतन: रु। 18,000
नया महंगाई भत्ता (31%): रु.5580/माह
अब तक का महंगाई भत्ता (17%): रु.3060/माह
कितना बढ़ा है महंगाई भत्ता 5580-3060: रु.2520/माह
वार्षिक वेतन में वृद्धि 2520X12: रु 30,240

अधिकतम मूल वेतन पर गणना

नया महंगाई भत्ता (31%): 17,639 रुपये/माह
अब तक का महंगाई भत्ता (17%): 9,673 रुपये/माह
कितना बढ़ा महंगाई भत्ता 17639-9673: रु 7966/माह
वार्षिक वेतन में वृद्धि 7966X12: 95,592 रुपये