सरकार की बड़ी योजना, पेंशनर्स को मिलेंगे 1.78 लाख मासिक आय, करें ये काम

एनपीएस पेंशनर्स को एसडब्ल्यूपी (सिस्टमैटिक विदड्रॉल प्लान) का उपयोग करने और सेवानिवृत्ति के बाद अपनी मासिक आय बढ़ाने की सलाह दी है।

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। राष्ट्रीय पेंशन प्रणाली या NPS भारत सरकार (Modi Government) द्वारा शुरू की गई एक सेवानिवृत्ति लाभ योजना है। जो सभी NPS खाताधारकों को सेवानिवृत्ति (Retirement) के बाद नियमित आय (regular income) की सुविधा प्रदान करती है। सेवानिवृत्ति के बाद की आय सुविधा के कारण NPS को सरकार समर्थित पेंशन योजना (Pension scheme) के रूप में भी जाना जाता है।

हालांकि अगर हम कर (Tax) और निवेश (Investment) विशेषज्ञों के विचारों पर जाएं तो कम जोखिम लेने की क्षमता वाले पेंशनर्स अपने एनपीएस खाते में 12,000 प्रति माह निवेश करके 1.78 लाख मासिक आय प्राप्त कर सकते हैं। उन्होंने एनपीएस पेंशनर्स को एसडब्ल्यूपी (Systematic Withdrawal Plan) का उपयोग करने और सेवानिवृत्ति के बाद अपनी मासिक आय बढ़ाने की सलाह दी है।

Read More: देश के 8 हाईकोर्ट में नए चीफ जस्टिस की हुई नियुक्ति, देखें जारी अधिसूचना

NPS योजना पर बोलते हुए SEBI पंजीकृत कर और निवेश विशेषज्ञ जितेंद्र सोलंकी ने कहा कि एक एनपीएस खाताधारक अपने एनपीएस खाते में 75 प्रतिशत तक इक्विटी एक्सपोजर चुन सकता है। हालांकि, इक्विटी एक्सपोजर को 60 प्रतिशत ऋण और 40 प्रतिशत जोखिम पर रखना सबसे अच्छा अभ्यास है। यह उन एनपी ग्राहकों के लिए भी उपयुक्त है, जिनकी जोखिम क्षमता कम है। 60:40 इक्विटी और ऋण जोखिम रखने से एनपीएस खाताधारक को लंबी अवधि में लगभग 10 प्रतिशत एनपीएस ब्याज दर प्राप्त करने में मदद मिलेगी।
.
सोलंकी ने कहा कि यदि कोई निवेशक इक्विटी-ऋण एक्सपोजर को 60:40 के अनुपात में रखते हुए 30 वर्षों के लिए अपने एनपीएस खाते में ₹12,000 प्रति माह निवेश करता है और शुद्ध एनपीएस परिपक्वता राशि का 40 प्रतिशत वार्षिकी खरीदता है, तो उसे 1,64 लाख रूपए मिलेगा। 11,142 एकमुश्त राशि और 54,704 रूपए मासिक पेंशन वार्षिकी के रूप में कम से कम 6 प्रतिशत वार्षिक रिटर्न देगी।