मध्य प्रदेश उपचुनाव : त्योहारों के बाद हो सकता है तारीखों का ऐलान, जोरों पर तैयारियां

by-elction

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। चुनाव आयोग (Election Commission) ने आज शनिवार को पश्चिम बंगाल (West Bengal) और ओडिशा में होने वाले विधानसभा उपचुनावों की तारीखों का एलान कर दिया है। बंगाल और ओडिशा में 30 सितंबर को उपचुनाव कराए जाएंगे, जिसके परिणाम 3 अक्टूबर को घोषित किए जाएंगे।वही मध्य प्रदेश समेत 31 सीटों पर चुनाव आयोग ने फिलहाल उपचुनाव टाल दिए है। माना जा रहा है कि त्यौहारों के बाद स्थितियों को देखते हुए मध्य प्रदेश उपचुनाव समेत बाकी सीटों की भी तारीखों (MP By-Election 2021) का ऐलान हो सकता है।इधर, राजनीतिक पार्टियों की तैयारियां जोरों पर चल रही है।

यह भी पढ़े.. Scholarship : छात्रों के लिए राहत भरी खबर, 15 नवंबर तक कर सकते है आवेदन

माना जा रहा है कि मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में लोकसभा-विधानसभा के उपचुनाव त्योहारों के बाद कराए जा सकते है। मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो चुनाव आयोग ने राज्यों के मुख्य सचिवों से स्थितियों को लेकर इनपुट मांगा था, जिस पर मुख्य सचिवों और चुनाव अधिकारियों ने बाढ़, कोरोना और त्योहारों का हवाला देते हुए उप चुनाव बाद में करवाने की सलाह दी है।

आयोग ने कहा है कि चुनाव संबंधित राज्यों के मुख्य सचिवों और मुख्य चुनाव अधिकारियों के विचारों और इनपुट को ध्यान में रखते हुए अन्य 31 विधानसभा क्षेत्रों और 3 संसदीय क्षेत्रों में उपचुनाव नहीं कराने का फैसला किया है।इन सीटों पर तारीखों की घोषणा बाद में की जाएगी। संवैधानिक जरूरतों और पश्चिम बंगाल के विशेष अनुरोध पर विचार करते हुए विधानसभा क्षेत्र 159 – भवानीपुर के लिए उपचुनाव कराने का निर्णय लिया गया।

यह भी पढ़े.. MP में लोकायुक्त का शिकंजा, सहकारी बैंक का अधिकारी 1.50 लाख की रिश्वत लेते धराया

बता दे कि मध्य प्रदेश एक खंडवा लोकसभा सीट (Khandwa By-election) और तीन रैगांव, जोबट और पृथ्वीपुर में विधानसभा सीटों पर उपचुनाव होना हैं। इसमें सबसे महत्वपूर्ण खंडवा लोकसभा सीट मानी जा रही है जिस पर बीजेपी की प्रतिष्ठा दांव पर लगी है, वही तीन विधानसभा सीटों पर कांग्रेस की साख दांव पर है। वही दमोह उपचुनाव में जीत के बाद जहां कांग्रेस आश्वस्त है वही बीजेपी हार के बाद सतर्क हो गई है और चुनाव को देखते हुए आए दिन बड़ी बैठकें, नई नियुक्तियां और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा बड़े बड़े ऐलान किए जा रहे है।

साथ ही केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह 18 सितंबर को प्रदेश के दौरे पर आने वाले है। 18 सितंबर को शाह जबलपुर पहुंचेंगे। वहीं आदिवासियों के बीच जाने महाभियान और कार्यक्रमों की शुरुआत होगी।वही दूसरी तरफ कमलनाथ और एमपी कांग्रेस  ने भी मोर्चा संभाल लिया है और उपचुनाव से पहले प्लान REACH-100 लॉन्च किया है, इसके तहत कांग्रेस हर जिले में सोशल मीडिया पर एक्टिव 100 लोगों को जोड़ेगी और फिर यह चैन बनती चली जाएगी।

यह भी पढ़े.. MP: पटरी टूटी देख ग्रामीण ने लाल टी शर्ट से दिया सिग्नल, चालक ने रोकी ट्रेन, बड़ा हादसा टला