कांग्रेस ने Scindia समर्थकों को दिया घर वापसी का न्योता, हलचल तेज! इमरती पर कही बड़ी बात

इस बीच कांग्रेस के प्रदेश सचिव का दिया यह न्योता अब सुर्खियों में है।

श्योपुर, डेस्क रिपोर्ट मध्यप्रदेश में कांग्रेस (congress) की सरकार गिराकर BJP की सरकार बनाने वाले ज्योतिरादित्य सिंधिया (jyotiradita scindia) और उनके समर्थकों को एक बार फिर कांग्रेस ने याद किया है। दरअसल कांग्रेस पार्टी ने सिंधिया समर्थकों को वापस पार्टी में आने का आमंत्रण दिया है। जिसके बाद से एक बार फिर से प्रदेश में सियासी हलचल तेज हो गई है। दरअसल कांग्रेस पार्टी के प्रदेश सचिव योगेश जाट (yogesh jaat) ने कांग्रेस पार्टी छोड़कर बीजेपी में शामिल हुए सभी चर्चित सिंधिया समर्थक नेताओं को कांग्रेस ज्वाइन (congress join) करने का निमंत्रण भेजा है।

इतना ही नहीं कांग्रेस पार्टी के प्रदेश सचिव योगेश जाट का कहना है कि यदि वह लोग कांग्रेस में वापसी करते हैं तो उन्हें पहले की ही तरह सम्मान दिया जाएगा। श्योपुर से कांग्रेस के प्रदेश सचिव योगेश जाट अपने पुराने साथियों को याद करते हुए उन्हें दोबारा पार्टी में लौटने का न्योता भेजा है। जाट ने पूर्व मंत्री इमरती देवी (imarti devi) सहित कई बड़े दिग्गजों को कांग्रेस में शामिल होने का खुला आमंत्रण दे दिया है। उन्होंने कहा कि गलती करना इंसान का स्वभाव है। गलती सभी से होती है। इन नेताओं से भी गलती हुई है लेकिन यदि इमरती देवी, कंसाना, मुन्नालाल गोयल जैसे लोग अपनी गलतियों को सुधार कर वापस कांग्रेस में वापसी करते हैं तो कांग्रेस माफ करने के लिए बड़ा दिल रखती है और उन्हें दिल से स्वीकार करने के लिए तैयार है।

Read More: Scindia के बयान से सियासी हलचल तेज, कांग्रेस के लिए चुनौती बने ज्योतिरादित्य के सख्त तेवर!

इतना ही नहीं कांग्रेस नेता जाट ने कहा कि कांग्रेस पार्टी ने अपनी पूर्व मंत्री इमरती देवी का हमेशा सम्मान किया है। यदि इमरती देवी कांग्रेस में वापस लौटती हैं तो उनको वही सम्मान कांग्रेस में वापस दिया जाएगा। जाट ने कहा कि पुराने साथियों के लिए कांग्रेस के दरवाजे हमेशा खुले हैं। वह कभी भी कांग्रेस में वापसी कर सकते हैं। हालांकि योगेश जाट प्राधिकृत अधिकारी नहीं है। बावजूद इसके उनके बयान चर्चा का विषय बने हुए हैं। वही ग्वालियर चंबल की सियासत में उनके यह बयान चर्चा में है। जबकि योगेश जाट के इस बयान पर पार्टी हाईकमान की क्या राय है। यह जानने के लिए भी आम जनता उत्सुक है।

बता दे कि मध्यप्रदेश में कांग्रेस का हाथ छोड़ बीजेपी के साथ जाने वाले पूर्व मंत्री इमरती देवी, कंसाना, रघुराज सिंह कंसाना, मुन्नालाल गोयल विधायक पद से इस्तीफा देकर BJP में शामिल हो गए थे। हालांकि उपचुनाव में इमरती देवी, गिर्राज और कंसाना चुनाव हार गए। जिसके बाद उन्हें बीजेपी सरकार के मंत्री पद से इस्तीफा देना पड़ा था। वही अब बीजेपी इन नेताओं की नियुक्ति जल्द निगम मंडलों में करने जा रही है या फिर उन्हें कोई सम्मानीय पर दिया जा सकता है। इस बीच कांग्रेस के प्रदेश सचिव का दिया यह न्योता अब सुर्खियों में है।