कांग्रेस MLA के बिगड़े बोल- कलेक्टर की क्या औकात, कितने आए और गए..Scindia समर्थकों पर निशाना

चाचौड़ा विधायक ने कहा कि प्रशासन में बैठे चीफ सेक्रेटरी, कलेक्टर, एसडीएम जनता के नौकर हैं। जनता इनकी मालिक है।

गुना, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (MP) के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह (digvijay singh) के छोटे भाई और चाचौड़ा विधायक लक्ष्मण सिंह (lakshman singh) एक बार फिर से विवादों में घिर गए हैं। दरअसल शनिवार को विधायक (MLA) ने महंगाई के मुद्दे को लेकर गुना में पदयात्रा निकाली थी। इस दौरान उन्होंने कलेक्टर (collectors) को लेकर अपशब्दों का इस्तेमाल किया है। चाचौड़ा विधायक ने कहा की कलेक्टर की औकात क्या है। उनके जैसे कितने आए और गए।

दरअसल शनिवार को चाचौड़ा विधायक लक्ष्मण सिंह के मधुसुदनगढ़ से यात्रा पर थे। इस दौरान आम जनता को भी संबोधित कर रहे थे। चाचौड़ा विधायक लक्ष्मण सिंह के साथ राघौगढ़ विधायक जयवर्धन सिंह (jaivardhan singh) भी मौजूद थे। वही मधुसुधनगढ़ में अपनी 15 किलोमीटर की यात्रा पूरी करने के बाद आम जनता को संबोधित करते हुए चाचौड़ा विधायक लक्ष्मण सिंह ने प्रशासन पर जमकर क्लास लगाई।

Read More: कर्मचारियों को बड़ा तोहफा देने की तैयारी में सरकार, इस महीने से बढ़ेगा DA!

इस दौरान उन्होंने कहा कि बीजेपी नेताओं को कार्यक्रम की अनुमति देते समय प्रदेश में कोरोना संक्रमण नहीं फैलता है लेकिन कांग्रेस की रैली हो या फिर किसानों की आवाज उठाने के समय कोरोना फैलने लगता है। वहीं चाचौड़ा विधायक ने कहा कि प्रशासन में बैठे चीफ सेक्रेटरी, कलेक्टर, एसडीएम जनता के नौकर हैं। जनता इनकी मालिक है।

वही राघौगढ़ विधायक जयवर्धन सिंह ने इस दौरान कहा कि बीजेपी की सरकार को 17 महीने हो चुके हैं। बावजूद महंगाई बढ़ती जा रही है। वही उन्होंने कहा कि 500 करोड़ों में जयचंद विधायकों को खरीद कर पैसों के बल पर सरकार बनाई गई है। लेकिन प्रदेश में महंगाई जारी है।