पूर्व कांग्रेस मंत्री का बयान, “जल्द होगा शिवराज सरकार की तानाशाही का अंत”

भोपाल।

मध्यप्रदेश में कोरोना के तेज़ी से बढ़ रहे आकड़ों के साथ ही कांग्रेस के शिवराज सरकार पर हमलेबी तेज़ होते जा रहे हैं। सरकार के नीतियों के खिलाफ आये दिन कांग्रेस नेता उनपर जुबानी हमला कर रहे हैं। इस बीच लोक निर्माण विभाग के पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने ट्वीट कर सरकार को घेरा है। ट्वीट करते हुए सज्जन सिंह वर्मा ने कहा कि शिवराज सरकार गरीब मजदूरों की रोजी-रोटी छीनने की कोशिश कर रही है। 50 साल से ज्यादा उम्र के श्रमिको को काम देने की मनाही कर सरकार मजदूरों की कमाई पर काली नजर लगा रही है। बता दें कि शिवराज सरकार ने लोक निर्माण विभाग ने कोरोना के चलते 50 साल से ज्यादा उम्र के श्रमिकों के काम करने पर रोक लगाई है।

दरअसल मंगलवार को ट्वीट करते हुए पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने कहा कि मजदूरों पर शिवराज सरकार एक बार फिर हथौड़ा चला रही है। पहले आठ घंटे की जगह बारह घंटे काम करने का फ़रमान और अब 50 साल से अधिक उम्र वालों को घर बैठाने की तैयारी? गरीब मज़दूरों को घर/रोटी/पैसा देने में फेल सरकार अब उनकी मेहनत की कमाई पर भी काली नज़र गढ़ाए बैठे हुई है। सज्जन सिंह वर्मा ने कहा कि ऐसी तानाशाह सरकार का अंत निश्चित है।

बता दें कि शिवराज सरकार ने लोक निर्माण विभाग ने कोरोना के चलते 50 साल से ज्यादा उम्र के श्रमिकों के काम करने पर रोक लगाई है। लोक निर्माण विभाग ने निर्माण कार्य में लगे ठेकेदारों से कहा गया है कि वे 50 साल से अधिक उम्र वाले मजदूरों को काम पर न लगाएं। इस अजीबो-गरीब फरमान से मजदूर और ठेकेदार दोनों की सकते में हैं। जसिके बाद ये सवा उठने लगे है कि जिन मजदूरों की उम्र 50 साल से अधिक हो गई है, वे अपनी रोजी-रोटी के लिए कहां जाएंगे। क्योंकि, ज्यादातर मजदूर निर्माण एजेंसियों में ही काम करते हैं। ऐसे में तो इनके सामने जीवन जीने का संकट पैदा हो सकता है। इधर ठेकेदारों की यह दलील है कि ज्यादा उम्र के मजदूर काम भले ही कम करें, लेकिन युवाओं से कई गुना अनुभवी होते हैं। कई बार वे इंजीनियरों का भी काम करते हैं।