डेल्टा प्लस वैरिएंट को लेकर अलर्ट सरकार, सीएम शिवराज सिंह बोले- आखिर MP में ऐसा क्या हुआ कि….

सीएम शिवराज सिंह (CM Shivraj Singh Chouhan)  ने कहा कि आज पूरे देश में मध्य प्रदेश का जन-भागीदारी मॉडल कौतूहल का विषय बना हुआ है।

सीएम शिवराज सिंह चौहान

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश में अनलॉक (MP Unlock 2021 )के बाद तेजी से बढ़ रहे कोरोना के डेल्टा प्लस वैरिएंट (Delta Plus variants of Corona)  को लेकर सीएम शिवराज सिंह  चौहान का बड़ा बयान सामने आया है। सीएम शिवराज सिंह ने कहा कि कोरोना वायरस बहरूपिया है, जो रूप बदल-बदल कर मानव जीवन को प्रभावित कर रहा है। विभिन्न देशों सहित अब भारत में कोरोना का डेल्टा प्लस वैरिएंट से प्रभावित होने की जानकारियाँ मिल रही हैं विशेषज्ञों के अनुसार डेल्टा प्लस वैरिएंट काफी घातक संक्रमण है। इसका मध्य प्रदेश में विस्तार न हो, इसके लिये पुख्ता इंतजाम किये जा रहे हैं।

यह भी पढ़े.. MP School: सरकारी स्कूलों को लेकर शिक्षा विभाग का बड़ा फैसला, 30 जून तक पूरा होगा काम

सीएम शिवराज सिंह (CM Shivraj Singh Chouhan)  ने कहा कि आज पूरे देश में मध्य प्रदेश का जन-भागीदारी मॉडल कौतूहल का विषय बना हुआ है। लोगों को यह आश्चर्य हो रहा है कि आखिर मध्यप्रदेश में ऐसा क्या हुआ, जिसने समय रहते कोरोना नियंत्रण पर काबू पा लिया और वैक्सीनेशन के महाअभियान में सर्वाधिक उपलब्धि हासिल की। इसका श्रेय मेरे प्रदेश की जनता को जाता है, जिन्होंने एकजुटता का परिचय देकर अपनी जिम्मेदारी को समझा। कोरोना से सुरक्षा के लिये चलाये गये वैक्सीनेशन महाअभियान में हमने वर्ल्ड रिकार्ड बना कर राष्ट्रीय स्तर पर जागरूक प्रदेश के रूप में पहचान बनाई है।

सीएम शिवराज सिंह ने कहा कि भविष्य में कोरोना संक्रमण से लोग प्रभावित न हो, इसके लिये वैक्सीनेशन डाइव चलाई गई। पिछली 21 जून को टीकाकरण महाअभियान (vaccination campaign) चलाने के लिये पूरे प्रदेश में सकारात्मक वातावरण तैयार किया गया।  जन-भागीदारी से ही प्रदेश में मात्र एक दिन में करीब 17 लाख लोगों को कोरोना से सुरक्षा कवच दिया जा सका। महाअभियान के दूसरे दिन भी प्रदेश में 11 लाख से अधिक लोगों को वैक्सीन लगाकर मध्यप्रदेश पूरे प्रदेश में अग्रणी रहा। प्रधानमंत्री  नरेन्द्र मोदी द्वारा दिये जा रहे सहयोग से प्रदेश में वैक्सीन की पर्याप्त उपलब्धता है और आगे भी बनी रहेगी।

यह भी पढ़े.. खुशखबरी- मध्य प्रदेश की यह सड़कें होंगी फोरलेन, PWD मंत्री ने मांगा कार्पोरेशन से प्रस्ताव

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि जिस रणनीति से प्रदेश में कोरोना की दूसरी लहर को नियंत्रित किया गया, उसी को और बेहतर करते हुए राज्य सरकार कोरोना की संभावित तीसरी लहर का सामना करने के लिये तैयारी में जुटी हुई है। तैयारियों में वे सभी आवश्यक व्यवस्थाएँ सुनिश्चित की जा रही है, जिससे प्रदेशवासियों को कोरोना की तीसरी लहर से बचाया जा सके।  मध्यप्रदेश को ऑक्सीजन (oxygen) के मामले में आत्म-निर्भर बनाने की जो पहल की गई उसके परिणाम अब सामने आने लगे है। करीब 100 से अधिक ऑक्सीजन प्लांट स्थापित करने का कार्य दो माह पूर्व से ही शुरू हो चुका है। इनमें से कुछ ऑक्सीजन प्लांट ने कार्य करना शुरू भी कर दिया है। शेष प्लांटस का कार्य तीव्र गति से जारी है।

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि कोरोना की दूसरी लहर पर नियंत्रण के बाद आम नागरिकों की सहूलियत के लिये प्रदेश में अनलॉक की कार्यवाही की गई है। इससे रोजगार और धंधे पुन: शुरू हुए हैं। आज जरूरत इस बात की है कि अनलॉक में लापरवाही बिलकुल भी न बरती जाए। सभी लोग कोरोना नियंत्रण के लिये अनुकूल व्यवहार अपनाते रहे। थोड़ी सी भी लापरवाही कोरोना को पुन: आमंत्रण देने जैसी होगी। कोरोना से सतर्क रहने और अनुकूल व्यवहार के लिये पूरे प्रदेश में जन-भागीदारी से जागरूकता अभियान भी चलाया जा रहा है।

यह भी पढ़े.. MP Weather Alert: मप्र में जारी रहेगा झमाझम का दौर, 1 दर्जन जिलों में भारी बारिश का अलर्ट

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि कोरोना वायरस ने हमारे कई अपनों को छीना है। प्रदेश के मुखिया होने के नाते मेरा यह प्रयास है कि वह दौर अब प्रदेश में न आये। इसलिये प्रदेश को स्वास्थ्य सुविधाओं के मामले में सुदृढ़ करने का अभियान भी चलाया गया है। सभी आवश्यक व्यवस्थाओं के साथ जनता को साथ लेकर हम मध्यप्रदेश को कोरोना से मुक्त करेंगे। कोरोना से जंग का जो जुनून प्रदेश की जनता में जागा है, उसे कायम रखते हुए स्वस्थ मध्यप्रदेश बनाएंगे।