कमलनाथ ने मध्य प्रदेश में कांग्रेस को मिली हार का कारण बताया, कहा’ मनी पावर और प्रशासनिक मशीनरी के दुरुपयोग के कारण हारे’

पूर्व मुख्यमंत्री आज दिल्ली में हैं। वे यहाँ कांग्रेस संसदीय दल की नेता सोनिया गांधी से मुलाक़ात करने पहुँचे हैं। इस दौरान जब पत्रकारों ने उनसे मध्य प्रदेश में कांग्रेस की हार के कारण पूछे तो उन्होंने इसके लिए बीजेपी को ज़िम्मेदार ठहराया है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में खुलकर पैसों का और सरकारी तंत्र का दुरुपयोग किया गया।

Kamal Nath

Kamal Nath on defeat : मध्य प्रदेश में कांग्रेस की करारी हार के बाद अब आरोप-प्रत्यारोप का दौर शुरु हो गया है। एक तरफ़ जहां अजय सिंह ने हार को लेकर कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष जीतू पटवारी सहित कमलनाथ और दिग्विजय सिंह पर निशाना साधा है, वहीं अब कमलनाथ हार के पीछे पैसे और प्रशासन के दुरुपयोग को कारण ठहरा रहे हैं।

हार को लेकर कमलनाथ ने दिया ये जवाब

पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ आज दिल्ली में हैं। वे यहाँ कांग्रेस संसदीय दल की नेता सोनिया गांधी से मुलाक़ात करने पहुँचे हैं। इस दौरान जब पत्रकारों ने उनसे मध्य प्रदेश में कांग्रेस की हार के कारण पूछे तो उन्होंने इसका ठीकरा पैसों के दुरुपयोग और प्रशासन के दुरुपयोग पर फोड़ दिया। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने मशीनरी का दुरुपयोग किया, मनी पावर का इस्तेमाल किया और इसी वजह से उनके खाते में सारी सीटें गई हैं। वहीं, राहुल गांधी द्वारा शेयर मार्केट में घोटाले पर जाँच के लिए JPC बनाने के सवाल पर कमलनाथ ने कहा कि राहुलजी ने जो कहा है वह तथ्य है।

मध्य प्रदेश में एक भी सीट नहीं जीत पाई कांग्रेस

बता दें कि इस बार मध्य प्रदेश में कांग्रेस शून्य पर सिमट गई है। उसने अपनी एकमात्र छिंदवाड़ा सीट भी गंवा दी। इस सीट से कमलनाथ के पुत्र नकुलनाथ सांसद थे। छिंदवाड़ा कमलनाथ का गढ़ माना जाता है और यहाँ से हारना उनके परिवार के लिए एक बड़ा झटका है। वहीं दिग्विजय सिंह भी लगातार दूसरी बार लोकसभा चुनाव हार गए हैं। हालाँकि चुनावों के दौरान कांग्रेस लगातार दस से पंद्रह सीटें आने का दावा कर रही थी लेकिन नतीजे उसके लिए बेहद निराशाजनक रहे। अब कमलनाथ दिल्ली में सोनिया गांधी से मुलाक़ात करने पहुंचे हैं और इस दौरान उन्होंने हार के पीछे बीजेपी द्वारा पैसे और प्रशासनिक तंत्र के दुरुपयोग को कारण बताया है।


About Author
श्रुति कुशवाहा

श्रुति कुशवाहा

2001 में माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता विश्वविद्यालय भोपाल से पत्रकारिता में स्नातकोत्तर (M.J, Masters of Journalism)। 2001 से 2013 तक ईटीवी हैदराबाद, सहारा न्यूज दिल्ली-भोपाल, लाइव इंडिया मुंबई में कार्य अनुभव। साहित्य पठन-पाठन में विशेष रूचि।