मोदी के आमंत्रण से महबूबा ने किया किनारा, कश्मीर के भविष्य को लेकर 24 जून को है सर्वदलीय बैठक

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। जम्मू कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री और पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी की प्रमुख महबूबा मुफ्ती सर्वदलीय बैठक में शामिल नहीं होंगी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जम्मू कश्मीर के मुद्दे पर यह महत्वपूर्ण बैठक बुलाई है। इसमें सभी पार्टियों को निमंत्रण भेजा गया है।

प्रदेश में सोयाबीन पर राजनीति शुरू, दिग्विजय ने लिखा शिवराज को पत्र

जम्मू कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने 24 जून की उस सर्वदलीय बैठक में शामिल होने से इनकार कर दिया है जिसकी अध्यक्षता प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करेंगे। पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी के प्रवक्ता सैयद सोहेल बुखारी के अनुसार रविवार को हुई पार्टी की मीटिंग में इस बात का फैसला किया गया कि महबूबा मुफ्ती पीएम मोदी के साथ बैठक में शामिल नहीं होंगी। 24 जून को होने वाली इस बैठक में जम्मू कश्मीर के 14 नेताओं को बुलाया गया है। इनमें चार पूर्व मुख्यमंत्री नेशनल कांफ्रेंस के फारूक अब्दुल्ला और उनके बेटे उमर अब्दुल्ला, पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद शामिल है। केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला ने इन नेताओं को बैठक में आमंत्रित करने के लिए उनसे संपर्क किया है। पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी की ओर से यह भी बताया गया कि महबूबा खुद तो बैठक में शामिल नहीं होंगी लेकिन साथ ही दो दिन के भीतर वे गुपकार गठबंधन के नेताओं से भी मीटिंग कर बैठक के बारे में चर्चा करेगी। जम्मू कश्मीर में चुनाव और परिसीमन को लेकर सर्वदलीय बैठक में महत्वपूर्ण निर्णय लिए जा सकते हैं। 5 अगस्त 2019 को जम्मू कश्मीर का विशेष दर्जा समाप्त कर धारा 370 हटा दी गई थी व उसे केंद्र शासित प्रदेश बना दिया गया था। यह बड़ा निर्णय लिए जाने के बाद प्रधानमंत्री की जम्मू कश्मीर के सभी राजनीतिक दलों के साथ यह पहली बातचीत है। इस महत्वपूर्ण बैठक में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और अन्य केंद्रीय नेताओं के भी शामिल होने की उम्मीद है।