MP School : छात्रों के लिए बड़ी खबर, ऐसे लगेंगी 1 से 5वीं की कक्षाएं, ये रहेंगे नियम

राज्य शिक्षा केंद्र के जारी निर्देशानुसार, कक्षा 1 और 2 के छात्रों की क्लास एक ही शिक्षक द्वारा संचालित की जा सकेगी औ सत्र 2021-22 के लिए दी गई कक्षा एक की पाठ्य पुस्तक के अनुसार पढ़ाया जाएगा।

MP SCHOOL

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। आखिरकार लंबे इंतजार के बाद मध्य प्रदेश में छोटे बच्चों के स्कूल दोबारा (MP School Reopening) से खुलने जा रहे है। स्कूल शिक्षा विभाग (MP School Education Department) के आदेशानुसार, कक्षा 1 से 5वीं के स्कूल 20 सितंबर से खुलने जा रहे है, ऐसे में छात्रों, शिक्षकों और स्कूल प्रबंधकों को कुछ नियमों का पालन करना होगा। इसको लेकर राज्य शिक्षा केंद्र ने दिशा निर्देश जारी किए गए हैं, जिसमें बताया गया है कि स्कूलों में किस तरह से कक्षाएं संचालित की जाएंगी।

यह भी पढ़े.. MP : लापरवाही पर बड़ा एक्शन- पंचायत सचिव और पटवारी समेत 8 निलंबित, CHO को नोटिस

मध्य प्रदेश के स्कूल शिक्षा विभाग (MP School Education Department) ने 20 सितंबर से कक्षा 1 से 12वीं तक की सभी शासकीय और अशासकीय स्कूल (Government And Private School Reopen) खुलने जा रहे हैं।इसके तहत विद्यार्थियों (Students) और सभी शिक्षक एसओपी (Standard Operating Procedure SOP) एवं नियमों का पालन अनिवार्य होगा। 1 से लेकर 5वीं की प्राथमिक स्तर की कक्षाएं 50 प्रतिशत क्षमता के साथ खोली जाएंगी।दूसरी क्लास के बच्चों को अभी पहली क्लास का ही पुराना पाठ्यक्रम पढ़ाया जाएगा। एक शिक्षक ही दोनों कक्षाओं की एक साथ क्लास लेगा।

राज्य शिक्षा केंद्र के जारी निर्देशानुसार, कक्षा 1 और 2 के छात्रों की क्लास एक ही शिक्षक (Teacher) द्वारा संचालित की जा सकेगी औ सत्र 2021-22 के लिए दी गई कक्षा एक की पाठ्य पुस्तक के अनुसार पढ़ाया जाएगा। विगत शैक्षणिक सत्र में स्कूलों के बंद (School Close) रहने के कारण कक्षा 2 के बच्चों में आए लर्निंग गेप को समाप्त करने के लिए शिक्षकों से अपेक्षा है कि कक्षा 2 के बच्चों को भी आगामी निर्देश तक कक्षा एक के पाठ्यपुस्तक के अनुसार ही पढ़ाई कराई जाए।

यह भी पढ़े.. मध्य प्रदेश के किसानों के लिए राहत भरी खबर, पंजीयन शुरु, जानें पूरी प्रक्रिया

इसके अलावा कक्षा 2 के बच्चों के पास पिछले सत्र की कक्षा पहली की पाठ्यपुस्तक आदि उपलब्ध हो, तो ऐसे बच्चों को पहले सत्र की कक्षा एक की किताब शाला में लाने के निर्देश दिए जाएं, ऐसे बच्चे जिनके पास पहली कक्षा की किताबें नहीं है, उन्हें कॉपी, स्लेट, रनिंग ब्लैक बोर्ड आदि पर कक्षा एक की पाठ्यपुस्तक के आधार पर अभ्यास कराया जाए। कक्षा पहली व दूसरी के सभी बच्चों को आगामी निर्देश जारी होने तक कक्षा एक की दक्षता पर ही कार्य कराए जाएं। दूसरी क्लास की किताबों का उपयोग न किया जाए।

वही कक्षा 3 से 5वीं के छात्रों की कक्षाओं के लिए शाला में उपलब्ध शिक्षकों की संख्या के आधार पर बैठक व्यवस्था करने के निर्देश दिए गए है।इसके तहत 20 से 27 सितंबर तक तक  प्रयास अभ्यास पुस्तिका पर कार्य एवं दक्षता उन्नयन बेसलाइन टेस्ट होगा। 28 सितंबर से 13 नवंबर तक  कक्षा 4 के लिए दक्षता उन्नयन हिंदी, अंग्रेजी व गणित संपूर्ण दिवस पढ़ाए जाएंगे, जिसके तहत सुबह 10:30 से दोपहर 2 बजे तक दक्षता उन्नयन और दोपहर 2:30 बजे से 5:30 बजे तक NAS की तैयारी करवाई जाएगी।

यह भी पढ़े.. MP School : 20 सितंबर से खुलेंगे कक्षा 1 से 5वीं के स्कूल, शिवराज सरकार का बड़ा फैसला

इसके साथ 15 नवंबर से 15 जनवरी तक पूर्व कक्षा के लर्निंग आउटकम के आधार पर ब्रिजिंग शिक्षण कार्य और ब्रिजिंग के लिए कार्य पुस्तिकाएं अलग से उपलब्ध कराई जाएंगी। दक्षता उन्नयन के लिए एक कालखंड बूस्टर डोज के रूप में सम्मिलित रहेगा। 16 जनवरी 22 से 16 अप्रैल 2022 तक वर्तमान कक्षा के लिए पाठ्यपुस्तक आधारित ऐड ग्रेट शिक्षण रहेगा।

MP School : छात्रों के लिए बड़ी खबर, ऐसे लगेंगी 1 से 5वीं की कक्षाएं, ये रहेंगे नियम

MP School : छात्रों के लिए बड़ी खबर, ऐसे लगेंगी 1 से 5वीं की कक्षाएं, ये रहेंगे नियम MP School : छात्रों के लिए बड़ी खबर, ऐसे लगेंगी 1 से 5वीं की कक्षाएं, ये रहेंगे नियम