मंत्री इमरती देवी के बचाव में उतरे सिंधिया, बीजेपी पर साधा निशाना

scindia-come-in-support-of-minister-imarti-devi

भोपाल। गणतंत्र दिवस पर कैबिनेट मंत्री इमरती देवी द्वारा सीएम का भाषण अधूरा पढ़ने के मामले में सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया उनके बचाव में आ गए हैं। उन्होंने इस मामले पर बीजेपी पर निशाना साधा है। सोमवार को ग्वालियर पहुंचे सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने बीजेपी पर हमला बोलते हुए कहा कि जो लोग इमरती देवी की बात कर रहे हैं उनमें संवेदनशीलता नहीं है। 

उन्होंने कहा कि इमरती देवी बीमार हैं वह अस्पताल में भर्ती हैं उन्हें खून चढ़ रहा है। ऐसे में उनका मजाक बनाने वाले या फिर उनपर सवाल खड़े करने वाले संवेदनशील नहीं है। वह बीमार थीं इसलिए संदेश पूरा नहीं पढ़ पाईं। उन्होंने सवाल पूछा कि हमारे देश और प्रदेश में संवेदनशीलता बची नहीं है?  पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के तहत कांग्रेस महासचिव ज्योतिरादित्य सिंधिया ग्वालियर पहुंचे। उन्होंने ठाकुर नर्सिंग होम में भर्ती महिला एवं बाल विकास मंत्री इमरती देवी का हालचाल जाना। मीडिया से बात करते हुए श्री सिंधिया ने भाजपा नेताओं पर निशाना साधते हुए कहा कि एक बीमार महिला का मजाक बनाते शर्म नहीं आ रही । क्या इतनी भी संवेदनशीलता नहीं बची। 

दरअसल, गणतंत्र दिवस के बाद से इमरती देवी का वीडियो वायरल हो रहा था। जिसमें वह मुख्यमंत्री का संदेश पूरा नहीं पढ़ पाई थीं और बीच में से ही ये कहते हुए पीछे हट गईं थीं कि अब कलेक्टर साहब पढ़ेंगे। वह सिंधिया खेमे की माने जाती हैं। उन्हें मंत्री पद दिलवाने के लिए सिंधिया का अहम रोल रहा है। इमरती देवी भी सिंधिया की तारीफ में कसीदे पढ़ती दिखाई देती रही हैं और सिंधिया को उनके लिए भगवान् समान भी बता चुकी हैं|  

गौरतलब है कि गणतंत्र दिवस के मौके पर इमरती देवी सीएम का संदेश पढ़ ही नही पाई थीं, चार लाइन में उच्चारण की आठ गलतियां होने के बाद इमरती ने सीएम का संदेश कलेक्टर से पढ़वाया था. इसके बाद आरोप प्रत्यारोप का दौर शुरू हो गया था। मामले में सबसे पहले पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के छोटे भाई लक्ष्मण सिंह की पत्नी रुबीना शर्मा सिंह ने अपनी ही पार्टी की कमलनाथ सरकार पर कटाक्ष किया|  रुबीना ने ट्विट कर कहा कि कमलनाथ सरकार में महिला बाल विकास मंत्री इमरती देवी, गणतंत्र दिवस पर कुछ लाइनों का भाषण भी नहीं पढ़ पाईं ये काफी शर्मनाक है| हालांकि बाद में उन्होंने अपना ट्वीट डिलीट कर दिया था। वहीं भाजपा इमरती देवी के भाषण नहीं पड़ने पर लगातार तंज कस रही है|