MP उपचुनाव : जब ग्वालियर में मिले ज्योतिरादित्य सिंधिया और सचिन पायलट, कही ये बड़ी बात

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। बीते कई दिनों से सियासी गलियारों में सबकी निगाहें मंगलवार को होने वाले ग्वालियर चंबल में होने वाले राजस्थान (Rajasthan) के पूर्व डिप्टी सीएम सचिन पायलट (Sachin Pilot) के दौरे पर थी। सबके मन में एक ही सवाल था क्या प्रचार के दौरान पायलट उनके जिगरी दोस्त और  ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) पर हमला बोलेंगे, लेकिन ऐसा कुछ भी नही हुआ। सिंधिया ने एयरपोर्ट पर पायलट से मुलाकात की और जोश के साथ स्वागत किया । वही पायलट ने भी अपने भाषण में सिंधिया का नाम ना लेकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) और BJP को जमकर घेरा।

दरअसल, लंबे इंतजार के बाद मंगलवार को आखिरकार मध्यप्रदेश उपचुनाव (Madhya Pradesh by-election) के दंगल में राजस्थान के पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट की एंट्री हो ही गई। पायलट कांग्रेस के प्रचार अभियान में शामिल होने के लिए ग्वालियर-चंबल क्षेत्र के दो दिवसीय दौरे पर मंगलवार सुबह को ग्वालियर पहुंचे। जहां एयरपोर्ट पर भाजपा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया और सचिन पायलट की मुलाकात हुई।इस दौरान सिंधिया भोपाल के लिए रवाना हो रहे थे और उसी समय पायलट ग्वालियर (Gwalior) पहुंचे थे।  ये जानकारी खुद सिंधिया दी। उन्होंने बताया कि अपने पूर्व सहयोगी और वरिष्ठ कांग्रेस नेता सचिन पायलट से ग्वालियर में मुलाकात की। उपचुनाव में प्रचार के लिए मध्य प्रदेश आने पर उनका स्वागत है। यह पूछे जाने पर कि कांग्रेस के पक्ष में पायलट के प्रचार करने से उपचुनाव में क्या कोई फर्क पड़ेगा, सिंधिया ने कहा कि लोकतंत्र में सभी को प्रचार करने का अधिकार है।

खास बात तो ये रही कि पायलट ने अपने भाषण में सिंधिया का नाम तक नही लिया बल्कि मोदी सरकार और शिवराज सरकार पर जमकर हमला बोला ।पायलट ने कहा कि मध्य प्रदेश को फिर प्रगति व खुशहाली की धारा में लाने के लिए यह आवश्यक है कि भाजपा के कुशासन को जड़ से उखाड़ कर कांग्रेस (Congress) की एक जनकल्याणकारी सरकार की स्थापना की जाए। वही जब मीडिया ने उनसे पूछा कि आपने अपने मित्र सिंधिया पर कुछ नहीं बोला तो उन्होंने कहा कि वो अपनी पार्टी का काम कर रहे हैं और मैं अपनी। जब उनसे पूछा गया कि क्या सिंधिया का निर्णय सही था तो उन्होंने कहा कि हर व्यक्ति अपना निर्णय लेने के लिए स्वतंत्र है और होना भी चाहिए।