Cancer in Children : बच्चों में मिल रहे हैं ऐसे लक्षण तो समझ जाएं कि उसे हो गया है कैंसर

वयस्कों में cancer की बीमारी अब बढ़ने लगी है. लेकिन यह बिमारी अब बच्चों को भी शिकंजे में लेने लगी है. cancer का एक विशेष प्रकार ल्यूकेमिया, कम उम्र के बच्चों में ज्यादा पाया जाता है, आइये जानते हैं विस्तार से-

हेल्थ, डेस्क रिपोर्ट अधिकांशतः वयस्कों में देखने वाली बीमारियाँ अब बच्चों में भी पाई जाने लगी है. इन्हीं में से एक है blood cancer, जिसे मेडिकल भाषा में ल्यूकेमिया भी कहते हैं। एक रिपोर्ट के अनुसार, 15 साल से कम उम्र के बच्चों में cancer का जो प्रकार सबसे ज्यादा पाया जाता है वह ल्यूकेमिया ही है। यह कैंसर ब्लड सेल्स को प्रभावित करता है और जानलेवा भी हो सकता है। हालांकि, समय पर यदि लक्षणों का पता चल जाए तो सही इलाज मिलने पर इसका निदान संभव है। आइये जानते हैं बच्चों में होने वाले ल्यूकेमिया के लक्षणों के बारे में –

यह भी पढ़ें – तनावपूर्ण जिंदगी से पाना चाहते हैं छुटकारा तो यह 5 तरीके आपको करेंगे रिलैक्स और खुशी देने में मदद करेंगे

जोड़ों में दर्द
यदि बच्चे की हड्डियों में लगातार दर्द बना रहता है तो यह ब्लड कैंसर का संकेत हो सकता है। दरअसल जो बच्चे ल्यूकेमिया से पीड़ित होते हैं, उनकी हड्डियों के पास असामान्य सेल्स बनने लगते हैं। यही कारण है कि अक्सर उन बच्चों को हड्डियों में दर्द रहता है.

वजन तेजी से घटना
ल्यूकेमिया का एक अहम लक्षण है बच्चे का अचानक से वजन कम होना. दरअसल, कैंसर के सेल्स लीवर और किडनी को प्रभावित करते हैं जिससे उनमे सूजन आ जाती है और भूख नहीं लगती, जिससे बच्चे का वज़न तेजी से कम होने लगता है।

सिरदर्द
ल्यूकेमिया के सेल्स दिमाग को भी प्रभावित कर सकते है। ऐसा होने पर बच्चे में सिरदर्द की समस्या बनी रह सकती है, साथ ही साथ चक्कर आने और उल्टी होने की समस्या भी हो सकती है।

यह भी पढ़ें – अजब गजब : अब जो दिया बीमारी का परवाना, हर हाल मे नौकरी से होगा जाना

शरीर के अंगों में सूजन
यदि बच्चे के शरीर के अलग-अलग हिस्सों में, जैसे चेहरे के साथ-साथ गर्दन और हाथ-पैर में सूजन हो, तो इस लक्षण को सामान्य समझकर अनदेखा करने के बजे डॉक्टर को दिखाना चाहिए. क्योंकि यह ल्यूकेमिया का लक्षण हो सकता है.

स्किन पर रैशेज
blood cancer के कुछ मामलों में बच्चों की त्वचा पर, रैड रैशेज देखने को मिलते हैं. यह रैशेज खासकर चेहरे पर दिखाई देते हैं। इस लक्षण को सामान्य मानकर अनदेखा नहीं करना चाहिए.

 

(डिस्क्लेमर: प्रस्तुत लेख में सुझाए गए टिप्स और सलाह केवल आम जानकारी के लिए हैं. इन्हें केवल सुझाव के रूप में लें. इसे पेशेवर चिकित्सा सलाह के रूप में नहीं लिया जा सकता। किसी भी तरह के उपचार या डाइट पर अमल करने से पहले अपने डॉक्टर से परामर्श जरूर लें।)