सर्दियों में गाजर का हलवा तो खूब खाया, इस बार ट्राय करें अमरूद का हलवा

जीवनशैली, डेस्क रिपोर्ट। सर्दियों में गाजर का गर्मा-गर्म हलवा हर घर की पहली पसंद होता है। घंटों दूध का ओटना, फिर उसमें गाजर को पकने देते रहना, मीठी होती भाप के साथ हलवा पकने का लंबा इंतजार। कहते हैं इंतजार का फल मीठा होता है, गाजर का हलवा भी उसी मीठे फल की तरह लगता है। वैसे गाजर का हलवा तो हर साल हर घर में बनता है। पर आप इस बार गाजर के हलवे के साथ अमरूद का हलवा भी ट्राय करें। अमरूद की शक्ल, सूरत और स्वाद देखकर ये सवाल उठ सकता है कि आखिर इस फल का हलवा कैसे बनेगा? पर, ये हलवा बनाना उतना ही आसान है। हलवे में मिलने वाली शक्कर और घी अमरूद का स्वाद और बढ़ा देती है।

चायनीज चाकू की बिक्री पर रोक, वेबसाइट पर ”डिलीवरी नहीं” का लगा टैग

तो चलिए जानते हैं कैसे बनेगा अमरूद का हलवा।

अमरूद के हलवे के लिए सामग्री
अमरूद
शक्कर
इलायची पाउडर
चुकंदर
घी
काजू, बादाम और दूध

अमरूद के हलवे की विधि
अमरूद का हलवा बनाने के लिए वैसे तो बाजार का मावा भी उपयोग किया जा सकता है, पर, कम मात्रा में बनाने के कारण दूध ओटा कर घर में मावा बना लिया जाए तो हलुवे का स्वाद और बढ़ जाएगा। सबसे पहले दूध को ओटा ओटा कर मावा बना लें, दूध को ओटा कर गाढ़ा करने की प्रक्रिया में चालीस मिनट का समय लग सकता है। मावा बन कर तैयार हो जाए तो हलवा बनाने की तैयारी करें। अमरूद लें और चुकंदर का बहुत छोटा सा टुकड़ा लें, ये ध्यान रखें कि चार अमरूद पर चुकंदर का एक इंच टुकड़ा काफी है। अमरूद और चुकंदर को पीसेज में काटकर उबाल लें। इन्हें ठंडा करके पीसें और मिक्सर में ग्राइंड कर लें। फिर इन्हें छान लें ताकि जो बीच नहीं पिस सके हैं वो अलग ही हो जाएं।

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी का बयान, काले कानून हारे अन्नदाता जीते

हलवा बनाने के लिए सबसे पहले एख पैन गर्म होने रखें, इसमें दो से तीन चम्मच घी डालें। इसमें अमरूद का पेस्ट डालकर मद्दी आंच पर भूनते रहें, कम से कम पांच मिनट तक इस पेस्ट को भूनें। इसमें शक्कर डाल कर थोड़ी देर चलाएं। इसके बाद घर में बना मावा डालें। अंत में ड्राई फ्रूट्स और इलायची पाउडर डालें। हलवा तैयार है खाने के लिए इसे गर्मागर्म सर्व करें।