MP : प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना का लाभ पहुंचा हितग्राहियों के खाते में, सीएम ने किया वर्चुअल संवाद

प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना के अंतर्गत 50 हज़ार हितग्राहियों को रु. 50 करोड़ की ब्याज मुक्त ऋण की राशि ट्रांसफर की।

प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना स्वनिधि संवाद कार्यक्रम

अलीराजपुर, यतेन्द्रसिंह सोलंकी/ देवास, अमिताभ शुक्ला। प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना (Dewas) जी हां यह एक ऐसी योजना है। जिन्होंने फुटकर व्यसाई खासकर कोरोना काल में लगे लॉकडाउन में आर्थिक तंगी के चलते अपना व्यवसाय खो दिया था। ऐसे लोगों के लिए इस योजना संजीवनी का काम किया है। और रविवार को इसी योजना से लाभान्वित हुए हितग्राहियों से मप्र (MP) के सीएम शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) ने प्रदेश के अलग-अलग जिलों के हितग्राहियों से वर्चुअली बात की। और उनसे इस योजना का लाभ मिलने पर हुए फायदे को लेकर चर्चा की।

यह भी पढ़ें…बागली को जिला बनाने की मांग जारी, हितानंद शर्मा की बैठक के पहले ग्रामीणों ने किया प्रदर्शन

प्रधानमंत्री स्वनिधी योजना क्या है ?
प्रधानमंत्री स्वनिधीयोजना एक ऐसी योजना है जिसमें छोटे व फुटकर व्यवसाई 10 हजार तक का कोलेटरल फ़्री सरकार से लोन ले सकते हैं। जिसका इस्तेमाल छोटे व्यवसाई अपने पूंजी के तौर पर कर सकते हैं। खासकर स्ट्रीट वेंडर्स जो लॉकडाउन के चलते पूरी तरह अपना व्यवसाय बंद कर चुके हैं उनके लिए योजना काफी लाभकारी है। बता दें कि इस योजना से 50 लाख स्ट्रीट वेंडर्स को लाभ मिलेगा। जिन्हें 1 साल के लिए दस हजार का लोन बिना किसी गारंटी के दिया जाएगा। आपको बता दें कि योजना आप निर्मल भारत अभियान पैकेज का एक हिस्सा है।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chouhan) ने शनिवार को बालाघाट में पीएम स्वनिधि योजना (PM Swanidhi Yojna) के राज्य स्तरीय कार्यक्रम में 50 हजार हितग्राहियों को ऋण राशि वितरित की और उनसे संवाद किया। सीएम शिवराज ने प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना के अंतर्गत प्रतीकात्मक रूप से हितग्राहियों को ब्याज मुक्त ऋण की राशि और अन्य योजनाओं का लाभ सौंपा। इस अवसर पर उन्होने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी का लक्ष्य है कि समाज के हर वर्ग का कल्याण हो और इसके लिए वो हर तरह से जुटे हुए हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि “मैं एक बार उन सभी 50 हजार बहनों-भाइयों को बधाई देता हूँ, जिनके खाते में यह राशि पहुंची है।

सिंगल क्लिक में 50 हजार हितग्राहियों को 50 करोड़
प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना स्वनिधि संवाद कार्यक्रम में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने हितग्राहियों से वर्चुअल माध्यम से संवाद किया। तथा प्रदेश के 50 हजार हितग्राहियों को 50 करोड़ रूपये की ब्याज मुक्त ऋण राशि का सिंगल क्लिक के माध्यम से अंतरित किया। हितग्राही संवाद कार्यक्रम के माध्यम से मुख्यमंत्री ने प्रदेशभर के हितग्राहियों को वर्चुअल माध्यम से संबोधित किया। इस अवसर पर उन्होंने विभिन्न जिलों के हितग्राहियों से संवाद भी किया। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए चौहान ने कहा केन्द्र और प्रदेश सरकार गरीब, किसान, वंचित वर्ग, अत्योदय सहित समाज के प्रत्येक वर्ग के विकास हेतु प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा देश आजादी का अमृत महोत्सव मना रहा है। उन्होंने कहा समावेशी विकास के लिए केन्द्र और प्रदेश सरकार प्रतिबद्ध होकर कार्य कर रही है। प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना एवं मुख्यमंत्री स्ट्रीट वेंडर योजना छोटे-छोटे व्यापार से जुड़े व्यापार करने वालों के लिए वरदान सिद्ध हो रही है। केन्द्र और राज्य सरकार कोरोना काल में प्रभावित हुए छोटे-छोटे व्यापार से जुड़े स्ट्रीट वेंडरर्स को बगैर ब्याज का ऋण प्रदान करते हुए उक्त व्यापारियों को व्यापार स्थापित करने के लिए आर्थिक मदद कर रही है। उन्होंने कहा केन्द्र और प्रदेश सरकार आमजन के जीवन में विकास का प्रकाश लाने के लिए प्रतिबद्ध है।

यह भी पढ़ें…Ujjain: आदमी पर से कुत्तों का विश्वास हुआ कम, बदल गया व्यवहार

इसी के तहत अलीराजपुर (Alirajpur) में भी चन्द्रशेखर आजाद नगर में आयोजित जिला स्तरीय कार्यक्रम में विशेष रूप से प्रेदश के औद्योगिक नीति एवं निवेश प्रोत्साहन मंत्री एवं जिले के प्रभारी मंत्री राजवर्धन सिंह दत्तीगांव उपस्थित हुए। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उन्होंने जिले में पात्रताधारियों को अधिक से अधिक योजना का लाभ दिलाने का आह्वान किया। उन्होंने कहा आत्मनिर्भर भारत बनाने के लिए प्रधानमंत्री प्रतिबद्ध होकर कार्य कर रहे है। उन्होंने कहा प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना के तहत अपना रोजगार को स्थापित करने के लिए बगैर ब्याज का ऋण हितग्राहियों को प्रदान किया जा रहा है। उन्होंने निर्देष दिए कि जिले में उक्त योजना के तहत अधिक से अधिक लोगों को लाभान्वित किया जाए। कार्यक्रम में बडवानी संसदीय क्षेत्र सांसद गजेन्द्रसिंह पटेल, कलेक्टर सुरभि गुप्ता, पुलिस अधीक्षक विजय भागवानी, एसडीएम चन्द्रशेखर आजाद नगर सुश्री किरण अंजना, नगर परिषद चन्द्रशेखर आजाद नगर अध्यक्ष निर्मला डावर, पूर्व विधायक माधोसिंह डावर, भाजपा जिलाध्यक्ष वकीलसिंह ठकराला उपस्थित थे। कार्यक्रम में हितग्राहियों को प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना के तहत हितलाभ का वितरण किया गया। कार्यक्रम में बडी संख्या में हितग्राहीगण उपस्थित थे।

देवास के हितग्राही आशीष सोलंकी से शिवराज ने की बात
ऐसे ही देवास (dewas) में स्थानीय चौपाटी पर आयोजित कार्यक्रम के दौरान देवास के आशीष सोलंकी और उनके परिवार से भी सीएम शिवराज सिंह चौहान ने बात की और उनसे इस योजना का लाभ मिलने पर हुए फायदे को लेकर चर्चा की। बतादें कि देवास में सयाजी द्वार के पास स्थित चौपाटी क्षेत्र में फास्ट फूड आइटम का ठेला लगाने वाले आशीष सोलंकी का कोरोना काल में लॉकडाउन के दौरान व्यवसाय तो बन्द हो ही गया था, साथ ही आर्थिक तंगी ने भी उनकी कमर तोड़ दी थी। उसके बाद नगर निगम से प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना के तहत मिले लोन से ना सिर्फ उनका व्यवसाय फिर से शुरू हुआ,बल्कि उनके चेहरे की खोई हुई ख़ुशी भी वापस लौट आई। आशीष सोलंकी सीएम शिवराज से बात करके ना सिर्फ खुश है, बल्कि योजना के फायदे को लेकर आभार भी जता रहे है । इस दौरान सीएम ने आशीष सोलंकी की बेटी तन्वी से भी बात की और सवाल किया कि वो बड़ी होकर क्या बनना चाहती है। जिसपर तन्वी ने कहा की वो बड़े होकर टीचर बनना चाहती है।

6 हजार लोगों को मिला लाभ
शिवराज सिंह चौहान के लाइव जुड़ने से पहले स्थानीय मल्हार स्मृति सभा गृह में हितग्राहियो को “वितरण पत्र” भी दिए गए । कार्यक्रम में मुख्य रूप से उपस्थित रही देवास विधायक गायत्री राजे पवार ने इस योजना की जमकर तारीफ़ करते हुए इस योजना को लॉकडाउन में बन्द हुए व्यवसाय के लोगो के लिए “संजीवनी” बताते हुए कहा कि अब लोग 10 हजार का लोन लेकर उसे चूका कर 20 हजार का लोन ले रहे है। और अपने व्यापार को फिर शुरू कर रहे है । वहीं देवास नगर निगम आयुक्त विशाल सिंह चौहान ने कहा कि आज पूरे मप्र में इस योजना के माध्यम से 50 हजार लोगो को लाभ दिया गया है। वहीं देवास में भी 6 हजार लोगो को इसका लाभ दिया जा चुका है और इसी को लेकर आयोजित कार्यक्रम के दौरान सीएम ने इस योजना से लाभान्वित हुए देवास के हितग्राही से बात भी की। कार्यक्रम में देवास कलेक्टर चन्द्रमौली शुक्ला सहित कई अधिकारी और जनप्रतिनिधी भी मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें…लुट गए मोहब्बत में, प्रेमिका को पाने के चक्कर मे प्रेमी ने गवाए 43 लाख