APO मारपीट मामला: जिला पंचायत के कर्मचारी कलमबंद हड़ताल पर, कई संगठन लामबंद

उधर कटनी, नरसिंहपुर, खरगौन, उज्जैन, छतरपुर, रीवा, दमोह, मुरैना, छिंदवाड़ा सीहोर, सिवनी, ग्वालियर, शहडोल, बैतूल आदि जिलों में कर्मचारियों ने कलेक्टर और जिला पंचायत सीईओ को ज्ञापन देकर आरोपियों की गिरफ़्तारी की मांग की है। 

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट।  शिवपुरी जिले की बदरवास जनपद पंचायत के अतिरिक्त कार्यक्रम अधिकारी (APO) सचिन गुप्ता के साथ हुई मारपीट और फिर उनके ही खिलाफ मामला दर्ज कराये जाने के बाद से मध्यप्रदेश की सभी जिला पंचायत के कर्मचारियों में नाराजगी है। खास बात ये है कि घटना के चार दिन बाद भी पुलिस ने अब तक कोई एक्शन नहीं लिया है।  घटना के बाद पुलिस कार्रवाई से नाराज प्रदेश की जिला पंचायतों से जुड़े कर्मचारी संगठन अब लामबंद हो गए हैं। घटना के विरोध में आज मंगलवार को जिला पंचायत शिवपुरी के कर्मचारियों ने कलमबंद हड़ताल की जिसके कारण कार्यालयों पर ताले लटके रहे।

जनपद पंचायत बदरवास के अतिरिक्त कार्यक्रम अधिकारी (APO) सचिन गुप्ता के साथ 4 जून को कार्यालय में घुसकर की गई मारपीट की घटना के नामजद चार आरोपियों के खिलाफ पुलिस द्वारा कोई एक्शन नहीं लिए जाने से पंचायत कर्मचारियों में आक्रोश है। घटना के विरोध में लगातार ज्ञापनों का सिलसिला जारी है। कर्मचारियों ने कल सोमवार को जिला पंचायत सीईओ को ज्ञापन सौंपकर कार्रवाई नहीं होने पर हड़ताल पर जाने की चेतावनी दी थी जिसके पालन में आज मंगलवार को जिला पंचायत शिवपुरी के अंतर्गत आने वाले सभी कार्यालयों के कर्मचारी आज मंगलवार को कलमबंद हड़ताल पर रहे। जिसका परिणाम ये रहा कि जिला पंचायत शिवपुरी से सम्बद्ध सभी कार्यालयों पर ताले लटके रहे।

ये भी पढ़ें – बिजली के तार पर 10 फीट लंबा सांप, अचानक लगा करंट और फिर हुआ ये ………

उधर अतिरिक्त कार्यक्रम अधिकारी (APO)  सचिन गुप्ता के साथ मारपीट के बाद कई कर्मचारी संगठन लामबंद हो गए हैं। मध्यप्रदेश की सभी जिला पंचायतों के कर्मचारी कलेक्टर और जिला पंचायत के सीईओ को ज्ञापन सौंप रहे हैं। पंच  सरपंच महा पंचायत के प्रदेश उपाध्यक्ष एवं शिवपुरी जिला अध्यक्ष रामबाबू शिवहरे ने आरोपियों की तत्काल गिरफ़्तारी की मांग की है।  मध्यप्रदेश पंचायत सचिव संगठन के शिवपुरी जिला अध्यक्ष मलखान सिंह बघेल ने भी आरोपियों की शीघ्र गिरफ़्तारी की मांग की है।  उधर कटनी, नरसिंहपुर, खरगौन, उज्जैन, छतरपुर, रीवा, दमोह, मुरैना, छिंदवाड़ा सीहोर, सिवनी, ग्वालियर, शहडोल, बैतूल आदि जिलों में कर्मचारियों ने कलेक्टर और जिला पंचायत सीईओ को ज्ञापन देकर आरोपियों की गिरफ़्तारी की मांग की है।

APO मारपीट मामला: जिला पंचायत के कर्मचारी कलमबंद हड़ताल पर, कई संगठन लामबंद APO मारपीट मामला: जिला पंचायत के कर्मचारी कलमबंद हड़ताल पर, कई संगठन लामबंद

फरियादी एवं पीड़ित अतिरिक्त कार्यक्रम अधिकारी (APO) सचिन गुप्ता के साथ कर्मचारियों में शिवपुरी विधायक एवं प्रदेश की कैबिनेट मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया (Yashodhara Raje Scindia) एवं वरिष्ठ अधिकारियों से भी मुलाकात कर दोषियों पर कार्रवाई करने और पुलिस द्वारा उनके खिलाफ दर्ज झूठे मुक़दमे को वापस लेने की मांग की।

APO मारपीट मामला: जिला पंचायत के कर्मचारी कलमबंद हड़ताल पर, कई संगठन लामबंद APO मारपीट मामला: जिला पंचायत के कर्मचारी कलमबंद हड़ताल पर, कई संगठन लामबंद

गौरतलब है कि 4 को हुई घटना के बाद घायल अवस्था में खून से सने सचिन गुप्ता ने पुलिस थाने जाकर बताया कि वे कार्यालय में स्टाफ की सेलेरी और कोरोना की जानकारी शासन को भेजने का कार्य कर रहे थे तभी दिन में दिनेश यादव ने मुझे फोन किया और कहा कि मिलना हैं, मैं कार्यालय में बैठा था तभी दिनेश यादव, देवेंद्र शर्मा, राजू यादव, और सुमित यादव आये और गन्दी गन्दी गालियां देते हुए मेरे साथ मारपीट करने लगे। इन लोगों ने मुझे टेबल पर रखे पेपर वेट और ना जाने किस किस चीज से मारा जिससे मेरे खून निकलने लगा।  मौके पर मौजूद सहकर्मी अश्विनी दीक्षित में मुझे बचाया। पुलिस ने APO की शिकायत पर आरोपियों के खिलाफ मारपीट, गाली गलौज, शासकीय कार्य में बाधा जैसी धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया।

ये भी पढ़ें – वैक्सीनेशन को लेकर केंद्र सरकार ने जारी की नई गाइडलाइन, 21 जून से प्रभावी

घटना के बाद पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ कोई एक्शन नहीं लिया बल्कि सचिन गुप्ता द्वारा FIR कराने के बाद पुलिस ने दूसरे पक्ष की शिकायत पर सचिन गुप्ता के खिलाफ भी मारपीट और गाली गलौज की FIR दर्ज कर ली। सचिन गुप्ता के साथ मारपीट के बाद उनके ही खिलाफ दर्ज किये जाने के बाद पुलिस की कार्रवाई पर सवाल खड़े होने लगे , जिसके विरोध में प्रदेश की जिला पंचायतों के कर्मचारी एकजुट होने लगे हैं।

ये भी पढ़ें – महिला कर्मचारी ने बिजली विभाग के ईई पर लगाए गंभीर आरोप, कार्रवाई की मांग