सरकारी दफ्तर में ही उड़ाई जा रही स्वच्छता अभियान की धज्जियां

Cleanliness-drive-of-the-government-office

अशोकनगर मुंगावली। अलीम डायर। 

भारतवर्ष में स्वच्छ भारत मिशन के अंतर्गत स्वच्छता को लेकर शासन और प्रशासन कई तरीके के प्रोग्राम और कार्यक्रम योजनाएं आयोजित कर रही है स्वच्छता के प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए सरकार के द्वारा पानी की तरह पैसा बहाया जा रहा है।

तो वहीं दूसरी ओर मुंगावली तहसील के जनपद पंचायत कार्यालय में जहा पंच सरपंच और ग्रामीणों को स्वच्छता का पाठ पढ़ाया जाता है वहीं पर गंदगी जगह-जगह पैर पसारे हुए हैं फिर चाहे वह लैट्रिंग बाथरुम हो,मीटिंग हॉल या स्टोर रूम यहां तक कि जनपद पंचायत के वरिष्ठ अधिकारी सीईओ के चैंबर से लगकर  उल्टे पड़े होर्डिंग में  कई दिनों का बारिश का गंदा पानी भरा हुआ है और बहुत सारा कबाड़ा भी पढ़ा हुआ है जिसमें कई घातक मक्खी मच्छर और अन्य जहरीले कीटाणु पनप रहे हैं जो इंसान को बीमार करने के लिए काफी है। और अधिकारियों का इस ओर बिल्कुल भी ध्यान नहीं है।

यह सब देखकर तो यही कहा जा सकता है कि सारे  नियमों को ताक पर रखकर अधिकारियों द्वारा ही स्वच्छता अभियान की धज्जियां उड़ाई जा रही हैं। सोचने वाली बात यह भी है कि जब जनपद पंचायत के अधिकारी  और कर्मचारी ही इस ओर ध्यान नहीं दे रहे तो आम लोगों को स्वच्छता के प्रति कैसे जागरूक करेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here