अंतर्राज्यीय सट्टेबाज़ों पर हुई कार्रवाई, 4 लाख का लेनदेन पकड़ाया, कई उपकरण जब्त, गिरफ्तार

balaghat पुलिस ने यह दबिश दी तो सटोरिये final मुकाबले में सट्टेबाजी कर रहे थे।

बालाघाट, सुनील कोरे। IPL में 15 अक्टूबर को CSK और KKR के बीच खेले गये फायनल मुकाबले में सट्टा खिला रहे अंतर्राज्यीय सटोरियों की गैंग को वरिष्ठ अधिकारियों के मार्गदर्शन में किरनापुर पुलिस (balaghat police) ने गिरफ्तार (arrest) किया है। सट्टा खिला रहे आरोपी महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़ (chhatisgarh) और मध्यप्रदेश (MP) के है, जो अंतर्राज्यीय सीमा पर स्थित रजेगांव में एक किराये का कमरा लेकर सट्टा खिला रहे थे, ताकि किसी को इसकी जानकारी न हो। जब पुलिस ने यह दबिश दी तो सटोरिये final मुकाबले में सट्टेबाजी कर रहे थे।

जहां से पुलिस ने 13 मोबाईल, एक रजिस्टर, पेन, एक टीवी, एक टाटा स्काई का रिसिवर, एक स्टेबलाईजर, रिमोट, तीन मोबाईल चार्जर, 3 केलकुलेटर, एक स्वीप्ट डिजायर कार, 3 मोटर सायकिल और 56 हजार 910 रूपये नगद सहित लगभग साढ़े तीन से चार लाख रूपये का क्रिकेट सट्टे के लेनदेन का हिसाब बरामद किया है।

Read More: विधायक पुत्र की बढ़ी मुश्किलें, खोजबीन जारी, पुलिस ने 15 हजार रूपए तक बढ़ाई इनामी राशि

सूत्रों की मानें तो काफी दिनों से आईपीएल के क्रिकेट मैच में सट्टा खिलाने सटोरियों ने कमरा किराये पर लिया था, जो मैच के दौरान यहां ठहरकर सट्टा खिलाकर दूसरे दिन चले जाते थे। जिसकी जानकारी जब मुखबिर से पुलिस को मिली तो वरिष्ठ अधिकारियों के मार्गदर्शन, एसडीओपी दुर्गेश मार्को के नेतृत्व में किरनापुर थाना एवं रजेगांव चौकी पुलिस ने फायनल मैच में सट्टा खिलाते हुए 6 आरोपियों को पकड़ा है।

जिसमें पुलिस ने क्रिकेट का सट्टा खिलाते महाराष्ट्र गोंदिया के रावणवाड़ी निवासी 45 वर्षीय कमलेश पिता सुधाकर वैद्य, रजेगांव निवासी 54 वर्षीय तरणजीत पिता प्रीतम ग्रोवर, सोनपुरी निवासी 23 वर्षीय विजय पिता गजानंद पराते, छत्तीसगढ़ के दुर्ग पुरला बस्ती बोम्बे पास निवासी 28 वर्षीय तुषार पिता पुन्नुलाल सूर्यवंशी, गोंदिया मंडी चौक माताटोली निवासी 40 वर्षीय जगदीश पिता भैरूमल डुलानी और रजेगांव निवासी 35 वर्षीय रामप्रसाद उर्फ मुन्ना पिता ज्ञानीराम हिंगे को गिरफ्तार किया है।

इस कार्यवाही में एसडीओपी दुर्गेश आर्मो, किरनापुर थाना प्रभारी रविन्द्र कुमार बारिया, रजेगांव चौकी प्रभारी उपनिरीक्षक गीतेश शर्मा, प्रधान आरक्षक झनकलाल नागेश्वर, आरक्षक अरविंद, विष्णु, सुरेश पांचे एवं विवेक की भूमिका सराहनीय रही। आईपीएल क्रिकेट सट्टा पकड़ने वाली टीम को पुलिस अधीक्षक अभिषेक तिवारी ने सम्मानित किये जाने की घोषणा की है।