युवती के आत्महत्या मामले में प्रेमी गिरफ्तार, लड़की ने खुदकुशी का बनाया था लाइव वीडियो

बालाघाट। सुनील कोरे| Balaghat News 14 फरवरी 2020 को भटेरा चौकी निवासी लॉ की छात्रा को आत्महत्या (Suicide) के लिए उत्प्रेरित करने वाले आरोपी प्रेमी लांजी निवासी बंटी उर्फ लोकेश सिल्हारे को पुलिस (Police) ने गिरफ्तार कर लिया है। बताया जाता है कि रिश्तेदार के विवाह समारोह में युवती और आरोपी प्रेमी के बीच पहचान हुई थी। यह पहचान कब प्यार में बदल गई, दोनो को पता नहीं चला। साथ मरने और जीने की कसम खाते हुए दोनो का प्यार परवान चढ़ रहा था। इसी बीच, युवती को पता चला कि उसके प्रेमी का किसी और अन्य लड़की से प्रेम संबंध है, जिसके बाद युवती ने प्यार में अपने कदम पीछे खींचते हुए प्रेमी युवक से बातचीत कम कर दी। प्रेमिका के व्यवहार में एकाएक बदलाव से बौखलाये प्रेमी लोकेश ने वापस युवती का प्यार पाने के लिए उसे धमकी देते हुए कहा कि यदि उसके साथ, उसने प्यार से बातचीत नहीं की तो वह हम दोनो के बीच प्रेम प्रसंग की बात उसके परिवारवालों और समाजवालों के सामने लाकर उसे बदनाम कर देगा। प्रेमी युवक की दी गई धमकी से परेशान और डर से युवती ने स्वयं को खत्म करने का ठानकर घर के ऊपरी माले के कमरे में पढ़ाई के बहाने पहुंचकर, फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली।

पहले डेमो विडियो बनाया फिर स्वयं फांसी लगाने का बनाया विडियो
प्रेमी युवक द्वारा प्रेम प्रसंग को लेकर परिवार और समाज में बताकर बदनामी करने की धमकी से परेशान लॉ छात्रा ने इससे बचने के लिए फांसी लगाकर अपनी जान दे दी। इससे पहले उसने दो विडियो बनाये, पहला फांसी लगाते हुए डेमो विडियो बनाया। जिसके बाद उसी एंगल पर मोबाईल कैमरा ऑन कर स्वयं फांसी पर लटकते हुए विडियो बनाया। जिस दौरान वह फांसी पर लटकी थी, उस दौरान भी उसका मोबाईल का विडियो फंक्शन चालु था, जिससे युवती के फांसी लगाते पूरा दृश्य कैमरे में कैद हो रहा था। मृतिका युवती की विवेचना के दौरान कोतवाली पुलिस के हाथ लगे मोबाईल में कोतवाली पुलिस को युवती का स्वयं फांसी लगाते हुए लाईव विडियो मिला।

मोबाईल कॉलिंग और व्हाट्सअप चेट से आरोपी तक पहुंची पुलिस
14 फरवरी 2020 को नगर के भटेरा चौकी में निवासरत लॉ की छात्रा 22 वर्षीय का घर के ऊपर वाले कमरे में चुनरी से फांसी लगाकर आत्महत्या किये जाने की जानकारी मिली थी। पुलिस को परिजनों ने बताया था कि घटना के दिन युवती छाया, दोपहर खाना खाने के बाद पढ़ने की बात कर ऊपर वाले कमरे में गई थी। जिसके बाद दोपहर लगभग 1.30 बजे उसे आवाज देकर बुलाया गया तो उसने कमरे से कोई जवाब नहीं दिया। जब कमरे का दरवाजा तोड़कर देखा गया तो युवती का शव फांसी पर लटका था। जिसके बाद तत्काल ही परिजन, उसे नीचे उतारकर निजी चिकित्सालय में ले गये थे। मृतिका छात्रा, बहनों में सबसे छोटी थी। मामले में जानकारी मिलने के बाद कोतवाली पुलिस ने निजी अस्पताल से मृतिका छात्रा का शव बरामद कर बरामद कर उसे पोस्टमार्टम के लिए जिला चिकित्सालय भिजवाया था, जहां से पीएम करवाकर शव परिजनों को सौंप दिया था। जिसमें मर्ग कायम कर विवेचना के दौरान पुलिस ने घटनास्थल से युवती का मोबाईल बरामद किया था। जिसमें युवती और उसके प्रेमी लोकेश के बीच कॉलिंग से हुई बातचीत और व्हाट्सअप चेट, पुलिस के लिए आरोपी तक पहुंचने में मददगार साबित हुई। जिसके बाद परिजनों के बयान, स्वतंत्र साक्षियों के कथन से यह पुख्ता हो गया था कि युवती ने प्रेम प्रसंग में प्रेमी युवक के बदनाम करने की धमकी देने के कारण युवती मानसिक रूप से परेशान थी और धमकी के कारण ही युवती ने उत्प्रेरित होकर आत्महत्या कर अपना जीवन खत्म कर लिया था।

तीन महिने की जांच के बाद आरोपी तक पहुंची पुलिस
नगर के भटेरा चौकी निवासी लॉ छात्रा की आत्महत्या मामले मंे मर्ग जांच की विवेचना वरिष्ठ अधिकारियों के मार्गदर्शन और सीएसपी सुमित केरकट्टा के निर्देशन में थाना प्रभारी विजय सिंह परस्ते और उपनिरीक्षक वीरेशसिंह कुशवाहा द्वारा की जाकर न केवल पूरी बारिकी से मामले की तफ्तीश की गई अपितु युवती को आत्महत्या के लिए उत्प्रेरित करने वाले युवक को सलाखों के पीछे भिजवाने में भी अहम भूमिका निभाई। जिससे मृतक युवती और उसके परिवार को न्याय मिलने की उम्मीद जागी है।