1 अक्टूबर से सैलानियों के लिए खुल गया कान्हा नेशनल पार्क

पर्यटकों से कोरोना गाइडलाइन के पालन की अपील

बालाघाट, सुनील कोरे। देश के विख्यात कान्हा नेशनल पार्क को 1 अक्टूबर से पर्यटन के लिए खोल दिया गया है। अमूमन हर वर्ष कान्हा को 15 अक्टूबर से खोला जाता है लेकिन लेकिन इस वर्ष एक अक्टूबर से ही खोल दिया गया है। कान्हा नेशनल पार्क के खुलने के साथ ही पर्यटकों का तांता लग गया।

पहले दिन कान्हा सफारी करते हुए पर्यटकों ने वनराज के दर्शन किये। इसके अलावा कान्हा में पाये जाने वाले अन्य वन्यजीवों का भी दीदार किया। कान्हा नेशनल पार्क में कोविड-19 से बचाव को लेकर लेकर जहां कान्हा प्रबंधन ने पूरे नियमों का पालन कर रहा है, वहीं बालाघाट टूरिज्म प्रमोशन काउंसिल द्वारा भी कान्हा पहुंचकर जिप्सी चालक, गाइड और पर्यटकों को कोरोना से बचाव की समझाईश देकर उन्हें मॉस्क, सेनेटाईजर और ग्लव्स का वितरण किया गया। कान्हा पहुंचे पर्यटकों ने कान्हा को पर्यटन के लिए खोले जाने का स्वागत किया है। वहीं पहले दिन ही कान्हा सफारी कर रहे पर्यटकों को हुए वनराज के दीदार से उनके सफारी की मंशा भी पूरी हो गई।

गौरतलब हो कि कान्हा उद्यान अपने वन्यजीव और प्राकृतिक सौंदर्य के लिए न केवल देश अपितु विदेशों में भी अपनी पहचान रखता है। यही कारण है कि प्रतिवर्ष कान्हा नेशनल पार्क में पर्यटकों की भारी संख्या रहती है, जहां देश के अलावा विदेशी पर्यटक भी यहां आकर वन्यजीव और प्राकृती की सुंदरता का आनंद लेते है। बालाघाट टूरिज्म प्रमोशन काउंसिल टीम द्वारा जिला कलेक्टर के निर्देशन पर मुक्की गेट के सभी गार्ड, जिप्सी ड्राइवर और पर्यटकों को मास्क, सेनेटाइजर, ग्लव्स बांटे गए और सुरक्षित पर्यटन के लिए शपथ भी दिलाई गई। पहले दिन 32 वाहनों में सोशल डिस्टेंस में बैठकर पर्यटको ने कान्हा सफारी का आनंद लिया। कान्हा सफारी के पहले ही दिन पर्यटको को जंगल के राजा टाइगर दिख गए, जिससे पर्यटको के चेहरे में खुशी दिखाई दी।

कोरोना संक्रमण के चलते इस साल कान्हा नेशनल पार्क को सुरक्षा की दृष्टि से जल्द ही बंद कर दिया गया था, जिसका पर्यटन पर भी असर पड़ा है और पर्यटकों में भी मायूसी छा गई थी। लेकिन जैसे ही पता चला कि 1 अक्टूबर से कान्हा नेशनल पार्क के सभी गेट खोले जाएंगे तो पर्यटकों के चेहरो पर मुस्कान लौट आई है। सफारी के पहले दिन कलेक्टर दीपक आर्य एवं जिला पंचायत सीईओ आर.उमा महेश्वरी के निर्देशन में टूरिज्म प्रमोशन काउंसिल बालाघाट के सहायक नोडल अधिकारी रवि पालेवार, राहुल मेश्राम एवं उनकी टीम द्वारा कान्हा राष्ट्रीय उद्यान के मुक्की गेट पर समस्त गाइड, जिप्सी ड्राइवर एवं पर्यटकों को मास्क, सेनेटाइजर, ग्लोब्ज का वितरण कर सुरक्षित पर्यटन करने कराने की शपथ दिलायी गई। कोविड-19 से बचाव के लिए अनिवार्यतः मास्क, सेनेटाइजर आदि का प्रयोग करने का आग्रह किया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here